खांसी और ठंड के इलाज में बहुत मददगार होता है तुलसी के बीज,जानिये कैसे

तुलसी के बीज ओसीम अभयारण्य संयंत्र के बीज से निकाले जाते हैं। आपको बता दे की तुलसी के बीज के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ हैं। आमतौर पर मिठाई और पेय पदार्थों में उपयोग किया जाता है और आयुर्वेद और प्राचीन चीनी दवा के रूप में भी इसका बखूबी उपयोग किया जाता है। तुलसी के बीज का इस्तेमाल कई वर्षों से घरेलू उपचार के रूप में किया जाता है। ये पोषण से भरें होने के साथ प्रोटीन, फाइबर और लौह की उच्च मात्रा से पूर्ण्तः युक्त होते हैं। तुलसी के बीज का उपयोग करने से आपके दैनिक कैलोरी सेवन में कोई भी कमी नहीं होती है। आपको बता दे की तुलसी के बीज पाचन, वजन घटाने, खांसी और ठंड का इलाज, प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के साथ कई सारे स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

शरीर में सूजन को कम कर सकते हैं
आपको बता दे की तुलसी के बीज में रोग विरोधी गुण मौजूद होते है जो सूजन, एडीमा और अन्य स्थितियों से निपटने में मदद कर सकते हैं, जो सूजन से जुड़े होते हैं। यह शरीर में सूजन पथों पर उनके अवरोधक प्रभाव के कारण दस्त से निपटने में भी भरपूर मदद कर सकता है।

प्रतिरक्षा
तुलसी के बीज के फ्लैवोनोइड्स और फेनोलिक सामग्री उन्हें शरीर की प्रतिरक्षा में सुधार के लिए बहुत अच्छा बनाती है। तुलसी के बीज एंटी-ऑक्सीडेंट्स में समृद्ध होते हैं जो शरीर में मुक्त कणों के कारण होने वाली क्षति से सुरक्षा प्रदान करते हैं। यह नुकसान उम्र बढऩे का कारण बन सकता है और सेलुलर क्षति भी पैदा कर सकता है।

खांसी और ठंड के इलाज में
सामान्य सर्दी, अस्थमा और खांसी जैसी स्थितियों का इलाज तुलसी के बीज की मदद से किया जा सकता है। इन बीजों में एंटी-स्पस्मोडिक प्रभाव होता है जो सामान्य ठंड और खांसी जैसी स्थिति में सुधार लाने में भरपूर मदद करता है। आप बुखार को कम करने के लिए भी उनका उपयोग कर सकते हैं।

सर्दीयों में ऐसे रखें अपनी त्वचा का ख्याल