यह लक्षण दिखें तो हो जाएं सावधान

वर्तमान समय में, मधुमेह एक महामारी के रूप में उभरकर सामने आई है। इतना ही नहीं, भारत को तो विश्व की मधुमेह कैपिटल कहा जाता है। इतना ही नहीं, आज भारत के लगभग हर दूसरे घर में कोई न कोई व्यक्ति डायबिटीज का मरीज अवश्य मिल जाएगा। वैसे तो अक्सर लोग डायबिटीज के उपचार के लिए इंसुलिन आदि का प्रयोग करते हैं। लेकिन अगर आप चाहें तो समय रहते ही कुछ संकेतों के जरिए इसे पहचानकर इसे बढ़ने से रोक सकते हैं। तो चलिए जानते हैं डायबिटीज के उन लक्षणों के बारे में-

जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या होती है, उसके शुरूआती लक्षणों में आपको थकान व सुस्ती का अहसास हरसमय होता है। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है, तो आप एक बार अपने ब्लड में शुगर लेवल की जांच कराएं।
वहीं प्री डायबिटीज में आपको त्‍वचा संबंधी परेशानी भी झेलनी पड़ सकती है। डायबिटीज की समस्या में शरीर के विभिन्‍न हिस्‍सों में त्‍वचा पर गहरे और काले धब्‍बे बन जाते हैं। आमतौर पर ये निशान गर्दन के पीछे, बगल में और जांघों पर दिखाई देते हैं।

अगर आपको सोने में तकलीफ होती है या फिर सोने के दौरान बीच-बीच में नींद खुलती रहती है तो यह जरूरी नहीं है कि ऐसा सिर्फ तनाव के कारण ही हो। सोने में परेशानी का कारण हार्मोन असंतुलन हो सकता है। ब्‍लड ग्‍लूकोज बढ़ने के कारण हार्मोन असंतुलन की समस्‍या होती है।

डायबिटीज की पहचान आप अपने पेशाब के जरिए भी लगा सकते हैं। अगर आपको अचानक से जल्दी.जल्दी पेशाब लगने लगी है और पेशाब कम मात्रा में होती है तो ये भी डायबिटीज की शुरुआत के लक्षण हो सकते हैं। आमतौर पर दिन में 10 बार से ज्यादा पेशाब लगे, तो आपको डायबिटीज की जांच करवानी चाहिए।

फटी एड़ियों के लिए चावल का आटा भी है फायदेमंद !