बीजिंग की संपत्ति नहीं है दक्षिण चीन सागर, स्वतंत्र देश उठाये जरुरी कदम- अमेरिका

दक्षिण चीन सागर पर अपना दावा ठोकने वाले चीन को अमेरिका ने करारा जवाब दिया है। अमेरिका ने चीन को दो टूक कहा है कि दक्षिण चीन सागर बीजिंग की संपत्ति नहीं है। ऐसे में यदि चीन फिर भी अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन करता रहा और स्वतंत्र देशों ने कोई कार्यवाही नहीं की तो वह और क्षेत्रों पर भी कब्जा जमा लेगा। अमेरिका के तेवर अब चीन की बेचैनी बढ़ा सकते है। पिछले दिनों अमेरिका में चीन को डॉलर सिस्टम से बाहर करने की मांग उठी थी।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ ने कहा कि अमेरिका की नीति शीशे की तरह साफ है और साउथ चाइना सी चीन की समुद्री संपत्ति नहीं है। उनकी मनमानी पर यदि आजाद देश कुछ नहीं करते है तो वह अन्य क्षेत्रों पर कब्जा जमा लेगा। चाइना सी विवाद का निपटारा अंतरराष्ट्रीय कानूनों के मुताबिक हो।

बता दे दक्षिण चीन सागर तीन द्वीपसमूह में बंटा हुआ है। पूरे चीन सागर पर अपनी संप्रभुता का दावा करने वाले चीन ने यहां पिछले कुछ समय से आक्रामकता को बढ़ा दिया है। दूसरी तरफ अमेरिका ने अपतटीय संसाधनों पर चीन के दावों को पूरी तरह खारिज करते हुए इसे अवैध करार दिया है।

यह भी पढ़े: कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सभी राज्य अपना सकते है ‘दिल्ली मॉडल’ कल होगी अहम बैठक
यह भी पढ़े: रोज रात में नहाने के होते हैं अनेकों फायदे