इस खबर को पढ़ने के बाद आप गुठलियों को समेटकर रखना शुरू कर देंगे

‘आम के आम गुठलियों के दाम’ ये कहावत तो आपने कई बार सुनी होगी, लेकिन कभी आपने सोचा है कि ये कहावत कहां से आयी, नहीं न. दरअसल, आम फलों का राजा है, आम स्वाद में जितना अच्छा होता है उसकी गुठली का फायदा भी उतना ही ज्यादा होता है, जो हमारे शरीर के लिये फायदेमंद होती है. अक्सर हम आम खाकर उनकी गुठलियों को कूड़ेदान में फेंक देते हैं. लेकिन इस खबर को पढ़ने के बाद आप गुठलियों को समेटकर रखना शुरू कर देंगे.

सफेद बालों के लिये

आम की सुखी गुठली के 5ग्राम पाउडर में 20ग्राम पानी मिलाकर घोल तैयार करें. इस घोल को रात में किसी लोहे के पात्र में रखें. सुबह इसे बालों पर मलने से बालों की सफेदी दूर होती है. साथ ही बाल मुलायम भी होते हैं.

मुहांसे

आम की गुठली का तेल मुहांसे और झाइयों पर मलने से तमाम दाग दूर हो जाते है. इसके तेल के नियमित मालिश से चेहरा चमकने लगता है.

दस्त से छुटकारा

दस्त से छुटकारा दिलाता है आम की गुठली. आम की गुठली, बील गिरी और मिश्री समान मात्रा में पीस कर दो चम्मच दिन में तीन बार लेने से दस्त ठीक हो सकते हैं. यदि दस्‍त में रक्‍त आ रहा है तो आम की गुठली को पीसकर छाछ में मिलाकर पीने से यह बंद हो जाता है.

दांत मजबूत करने में

आम के हरे पत्ते सुखाकर जलाकर पीस लें. आम की गुठली बारीक पीस कर इसमें मिला दें और दोनों को मिलाकर बारीक छलनी से छान लें. रोजाना इससे मंजन करने से दांत सफेद और मजबूत होते हैं और दांत का दर्द भी ठीक हो सकता है. रोजाना आम के पत्ते कुछ देर चबाकर थूकने से दांतों का हिलना और मसूड़ों से खून आना बंद हो सकता है.

कोलेस्ट्रॉल स्तर

आम की गुठली से कोलेस्ट्रॉल स्तर को भी नियंत्रित किया जा सकता है. आम की गुठली ब्‍लड सर्कुलेशन को ठीक करके खराब कोलेस्‍ट्रॉल के लेवल को सही करने में सहायता करती है.

दिल की बीमारी में राहत

अगर गुठली को सीमित मात्रा में खाया जाए तो हाई ब्लड प्रेशर की समस्‍या ठीक हो सकती है जिससे दिल की बीमारी के होने का खतरा टलता है.

पीरियड्रस में भी अधिक ब्लीडिंग रोके

गुठली का चूर्ण दही और नमक मिलाकर खाने से महिलाओं की जरूरत से ज्यादा ब्लीडिंग रोकी जा सकती है.

मोटापा घटाए

मोटे लोंगो को आम की गुठली के पाउडर से काफी मदद मिल सकती है क्‍योंकि यह वजन को कम करने में मदद करता है. यह वजन घटाता है, कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को कम करता है और खून के सर्कुलेशन को भी ठीक रख सकता है.

यह भी पढ़ें:

गर्मी के मौसम में ऐसे करें अपने आंखों की देखभाल

खर्राटे की समस्या से ऐसे पाएं छुटकारा