बेंजामिन नेतान्याहू पीएम बनने की रेस में सबसे आगे? समझिए कितने मजबूत हैं बीबी

इजरायल में संसद भंग होने की आधिकारिक घोषणा की जा चुकी है। माने जल्द ही चुनाव कराए जा सकते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक अक्टूबर से पहले आम चुनाव कराए जा सकते हैं। इजरायली मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सर्वे में इजरायल के पूर्व पीएम बेंजामिन नेतान्याहू की पार्टी लिकुड सबसे मजबूत नजर आ रही है हालांकि अकेले बहुमत से दूर है लेकिन गठबंधन दलों के साथ सरकार बना सकती है।

नेतान्याहू को बढ़त?

नफ्ताली बेनेट के 2021 में पीएम बनने से पहले नेतान्याहू लगातार 12 सालों तक इजरायल के पीएम रहे हैं। इससे पहले 1996-1999 के दौरान भी नेतान्याहू पीएम रहे हैं। नेतान्याहू इजरायल के सबसे लंबे वक्त तक पीएम रहे हैं। पिछले एक साल में लिकुड पार्टी की सीटों में करीब 30 फीसद तक की बढ़त दिख रही है जो कि नेतान्याहू के लिए राहत की बात हो सकती है।

नेतान्याहू के लिए आखिरी मौका?

वॉल स्ट्रीट जर्नल से बातचीत में इजरायली राजनीति पर नजर रखने वाले एक्सपर्ट्स ने कहा है कि नेतन्याहू को एक स्थिर सरकार बनाने के लिए एक और मौका मिला है को कि उनका आखिरी शॉट हो सकता है। पोल्स बताते हैं कि 73 साल के नेतान्याहू अभी भी इजरायल के सबसे लोकप्रिय नेता हैं।

बेंजामिन नेतन्याहू ने कसी कमर

नेतन्याहू का कहना है कि वह देश की अर्थव्यवस्था में सुधार, देश को सुरक्षित करने और इस क्षेत्र में इजरायल के सहयोगियों के बढ़ते दायरे का विस्तार जारी रखने के लिए सत्ता में लौटना चाहते हैं। उन्होंने कहा है कि उन पर लगाए जा रहे आरोप झूठे हैं और जांच राजनीति से प्रेरित है।

नेतन्याहू का स्थिर सरकार बनाने का दावा

नेतन्याहू ने इजरायल के इतिहास में सबसे खराब सरकार के अंत की सराहना करते हुए एक मजबूत और स्थिर सरकार बनाने की बात कही है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि नेतन्याहू की लिकुड पार्टी आगामी चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभर सकती है लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि नेतन्याहू सरकार बना पाएंगे या नहीं।

यह पढ़े: इरफान पठान ने AB de Villiers से की Dinesh Karthik की तुलना, बताया दोनों खिलाड़ियों में क्या है समानता