जामुन की गुठली को सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद माना जाता है, तो आइए जानते हैं इसके बारे में

जामुन का नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। सेहत के लिए लाभदायक जामुन का सेवन अधिकतर लोग करना पसंद करते हैं। लेकिन अक्सर देखने में आता है कि जामुन खाने के बाद उसकी गुठली को बाहर फेंक देते हैं। लेकिन अगर आप चाहें तो इसका भी सेवन कर सकते हैं। जामुन की गुठली भी सेहत के लिए काफी लाभदायक मानी जाती है। तो चलिए जानते हैं इसके बारे में-

ऐसे करें इस्तेमाल

जामुन की गुठली का इस्तेमाल करने से पहले आपको उसका पाउडर बनाना होगा। इसके लिए आप गुठलियों को इस्तेमाल करने से पहले उन्हें अच्छी तरह धो लें। इसके बाद इन्हें धूप में रखकर अच्छी तरह सूखा लें। इसके बाद गुठलियों के छिलके उतारकर उनके छोटे-छोटे टुकड़े कर लें। अब इसे मिक्सी में डालकर बारीक-बारीक पीस लें। पाउडर बनाने के बाद इसे किसी शीशी में डालकर रख लें।

मिलते हैं यह फायदे

  • जामुन की गुठली मधुमेह रोगियों के लिए काफी अच्छी मानी जाती है। इसके सेवन के लिए आप हर रोज सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ इस पाउडर का सेवन करें।
  • अगर किसी की किडनी में स्टोन है तो आप जामुन की गुठली का पाउडर इस्तेमाल करें। इसके लिए आप हर रोज सुबह-शाम पानी के साथ 1 चम्मच इस पाउडर का सेवन करें। आपकी किडनी स्टोन की समस्या कुछ समय में ही दूर हो जाएगी।
  • महिलाओं के लिए भी जामुन की गुठली काफी लाभदायक होती है। खासतौर से, पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग या दर्द होने पर गुठली के पाउडर का सेवन करें। इससे राहत पाने के लिए जामुन की गुठलियों और पपील की छाल का पाउडर मिक्स करके 1चम्मच पाउडर को दिन में 2-3 बार ठंडे पानी के साथ पीएं।
  • मसूड़ों में दर्द या ब्लीडिंग होने पर आप गुठली के पाउडर को बतौर मंजन इस्तेमाल करें। नियमित रूप से इस पाउडर से मंजन करने पर आपकी प्रॉब्लम कुछ समय में ही ठीक हो जाएगी।
  • कुछ बच्चों को बिस्तर गीला करने की बुरी आदत होती है। इनकी इस आदत को दूर करने के लिए उन्हें दिन 2 बार इस पाउडर को आधा-आधा चम्मच पानी के साथ पिलाएं। आपको कुछ दिनों में ही असर दिखने लगेगा।