डायबिटीज के रोकथाम में पान के पत्ते हैं असरदार, जानिये कितना खाने से होगा फायदा

सरकारी आंकड़ों की मानें तो भारत में लगभग 60 मिलियन लोग डायबिटीज की समस्या से जूझ रहे हैं। इसके अनुसार, देश की आबादी का 7.8 प्रतिशत हिस्सा डायबिटीज रोगी है। इस बीमारी से पीड़ित लोगों की इम्यूनिटी कमजोर होती है जिस वजह से उन्हें अपने सेहत की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। दवाइयों के साथ कई घरेलू नुस्खे भी डायबिटीज को नियंत्रित रखने में कारगर होता है। पान भी एक ऐसा ही घरेलू आइटम है जो डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद है। पान की फिलिंग में अगर केसर, गुलकंद, सौंफ और काली मिर्च डाल दें तो वो और भी लाभकारी बन जाता है। आइए जानते हैं कैसे पान खाना है फायदेमंद-

डायबिटीज मरीज क्यों खाएं पान: पान के पत्तों में क्रोमियम मुख्य तौर पर मौजूद होता है। क्रोमियम शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा को कंट्रोल करने में कारगर है। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, दिन भर में एक पान खाने से आपको कई लाभ मिलेंगे। आज कोरोना वायरस जब पांव पसारे खड़ा है तो डायबिटीज के मरीजों को अपना खास ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में अगर रोज मेन मील यानि कि दोपहर के खाने के बाद एक पान खाने से स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। हालांकि, आज के समय में लोग स्वास्थ्यवर्धक पान में तंबाकू और न जाने क्या-क्या मिलाकर खाते हैं जबकि पान को बिना किसी दूसरे तत्व के खाली चबाकर खाना चाहिए। आप चाहें तो इसके स्वाद को बढ़ाने के लिए पान में केसर, गुलकंद, और सौंफ मिला सकते हैं।

चोट व घाव को ठीक करने में असरदार: इसके अलावा, ये एक एंटी-सेप्टिक भी है यानि कि किसी भी तरह के चोट और घाव को जल्दी ठीक करने में भी पान का पत्ता कारगर है। डायबिटीज के मरीजों को सलाह दी जाती है कि वो लगातार शरीर के हर हिस्से को जांचते रहें ताकि किसी भी तरह के घाव या चोट लगने पर वो डॉक्टर को दिखा सकें। इन मरीजों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत इसलिए भी है क्योंकि ज्यादा ब्लड शुगर होने से घाव होने का खतरा बढ़ जाता है जो जल्दी ठीक भी नहीं होते। ऐसे में पान के सेवन से उनकी ये परेशानी जल्दी ठीक हो सकती है।

क्या हैं दूसरे फायदे: पान में एंटी-डायबेटिक गुण ही नहीं बल्कि एंटी-इंफ्लामेट्री, एंटी-अल्सर, एंटी इंफेक्टिव गुण भी मौजूद हैं। ये सूजन और अल्सर से भी शरीर को बचाए रखता है। इसके साथ ही लिवर को सुरक्षित रखने और संक्रमण से लड़ने में भी पान सक्षम है। पान एक माउथ फ्रेशनर के रूप में भी कार्य करता है। इसके अलावा, ये एक एंटी-कैंसर एजेंट भी है यानि कि नियमित रूप से हर दिन एक पान खाने से आप कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी बच सकते हैं।

यह भी पढ़े-

मुंह से बदबू आना भी हो सकता है डायबिटीज का लक्षण, जानिये कैसे पाएं इससे छुटकारा