बिहार के मंत्री मदन सहनी ने कहा- “जल्द ही उपलब्ध होगा शेष लाभूकों को राशन”

कोरोना महामारी के दौर मे मज़दूरों और गरीबो को को अपने पेट पालने मे भी परेशानी होने कगी थी। लॉकडाउन होने कि वजह से नौकरी या व्यवसाय सब ठप पड़ गये थे। इसी दौरान प्रधानमंत्री द्वारा ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ की शुरुआत की गई थी, जिससे मज़दूरों और गरीब परिवारों के भोजन कि समस्या दूर किया जा सके। इसके बावजूद बिहार में ठीक तरीके से अनाज का वितरण नहीं हो पा रहा है। अगस्त माह समाप्त होने के बाद भी राशन वितरण मात्र 24% ही हो पाया है।

इसको लेकर बिहार सरकार के खाद्य उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी ने बताया कि बाढ़ के वजह से अनाज का उठाव नहीं हो पाया। पानी घटते ही हम लोग युद्ध स्तर पर राशन का वितरण शुरू कर दिए हैं । मंत्री ने आगे कहा कि बिहार के आधे से ज्यादा जिलों में बाढ़ का पानी था, जिसके वजह से सही समय पर अनाज का उठाव नहीं हो पाया लेकिन अब वितरण का कार्य शुरू हो गया हैं और अभी हम लोगों ने 24 प्रतिशत अनाज लाभूकों के पास पहुँचा चुके हैं। शेष बचे हुए लाभुकों को जल्द ही अनाज उपलब्ध करा दिया जाएगा। मंत्री ने आगे कहा कि कोरोना काल में सभी लोगों ने बहुत बेहतरीन ढंग से काम किया है । इसका नतीजा है कि इतने लंबे समय तक लॉकडाउन रहने के बावजूद भी कोई व्यक्ति किसी के सामने हाथ फैलाने के लिए नहीं गया। सभी जरूरतमंदों के पास अनाज पहुंचाया गया ताकि इस महामारी के दौर मे वे भूखे न मरे।

Loading...