बिहार के नवनिर्वाचित शिक्षा मंत्री मेवालाल का इस्तीफा, विवादों में आया था नाम

बिहार की नवनिर्वाचित नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री बने डॉ मेवालाल चौधरी ने विवादों में नाम आने के बाद पद से इस्तीफा दे दिया हैं। उनपर नियुक्ति के मामले में घोटाले का आरोप लगा हैं। राजद नेता समेत अन्य विपक्षी दल लगातार उन पर हमला कर रहे थे। यही नहीं, उनपर पत्नी की मौत में भी हत्या का नया आरोप लगाया गया। जिसके बाद गुरुवार सुबह मेवालाल ने सभी आरोपों से पल्ला झाड़ लिया। लेकिन कुछ देर पहले उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया हैं।

बता दे इस्तीफा देने से कुछ देर पहले मेवालाल ने अपने ऊपर लगे आरोपों को पूरी तरह निराधार बताया था। उन्होंने कहा था कि उनके ऊपर कोई चार्जशीट नहीं हैं। साथ ही पत्नी की मौत के लिए हत्या मामले में जिम्मेदार बताने वालों पर मानहानि का मुकदमा भी करेंगे। मेवालाल ने कहा कि वे आरोप लगाने वाले आईपीएस अधिकारी पर 50 करोड़ रुपये का मानहानि का केस करने जा रहे हैं। उनके खिलाफ कोई तथ्य नहीं हैं जिसमें किसी तरह की जांच की बात हो।

तारापुर से निर्वाचित जेडीयू विधायक डॉ मेवालाल चौधरी की पत्नी स्व. नीता चौधरी राजनीति में काफी सक्रिय रही। वह जदयू के मुंगेर प्रमंडल की सचेतक भी थीं। 2010-15 में तारापुर से विधायक चुनी गयीं। वर्ष 2019 में गैस सिलेंडर से लगी आग में झुलसने से उनकी मौत हो गयी थी। एक पूर्व आईपीएस अधिकारी ने शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी की पत्नी की मौत के मामले में उनसे पूछताछ की मांग की है। इसके लिए उन्होंने डीजीपी एसके सिंघल को पत्र लिखा है।

यह भी पढ़े: केरल में बीजेपी ने लोकल बॉडी चुनाव में ‘कोरोना’ को बनाया अपना उम्मीदवार
यह भी पढ़े: एलन मस्क बने दुनिया के चौथे सबसे बड़े अमीर शख्स, मार्क जुकरबर्ग को पीछे छोड़ा