सेहत के लिए बहुत लाभदायक है करेला, कई रोग होते हैं इससे दूर

करेला स्वाद में लोगों के लिए भले ही कड़वा होता है, लेकिन इसके फायदे जानकर आप भी इसे खाना अवश्य शुरू कर देंगे। करेले खाने से होने वाले फायदों के बारे में तो शायद आप जानते होंगे, लेकिन अगर करेले का अन्य तरीकों से इस्तेमाल करें तो यह कई और रोग भी मिटा सकता है। आइए जानते हैं करेले का इस्तेमाल करने के तरीके, जिन्हें अपनाकर आप कई तरह के रोगों से निजात पा सकते हैं।

घुटने के दर्द में करेले का इस्तेमाल- घुटने के दर्द में कच्चे करेले को आग में भूनकर मसलकर, भरता बनाकर रुई में लपेट कर घुटने में बांधने से फायदा होता है। साथ ही अगर आपके घुटने में सूजन या दर्द भी रहता है तो यह तरीका लाभदायक होता है।

सिरदर्द में करेले का प्रयोग- अगर आप भी सिरदर्द से परेशान रहते हैं तो करेले की ताजी पत्तियों को पीसकर माथे पर लगाएं, ऐसा करने से सिर का दर्द ठीक हो जाता है। आपने भले ही इसके बारे में पहले कभी सुना नहीं हो, लेकिन यह सिरदर्द के लिए बहुत अचूक व रामबाण दवा है।

मुंह के छालों का इलाज- मुंह के छालों के लिए करेला बहुत ही अचूक प्रयोग है। इसके लिए करेले की पत्तियों का रस निकालकर उसमें थोड़ मुलतानी मिट्टी मिलाकर पेस्ट बना लें और मुंह के छालों पर लगाएं। वहीं अगर मुलतानी मिट्टी ना मिले तो करेले के रस में रूई को डुबोकर छाले वाली जगह पर लगाएं और लाह को बाहर आने दें। इससे मुंह के छाले ठीक हो जाएंगे। अगर आपको पत्तिया नहीं मिल रही है तो करेले के छिलके का रस निकालकर भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

घाव व फोड़े में करेले का इस्तेमाल- अगर आपको किसी चीज का घाव है या फोड़ा है तो करेले की जल को घिसकर फोड़े पर लगाएं, एक दो बार ऐसा करने से आपका फोड़ा पक जाएगा और पस भी बहुत जल्द निकल जाएगी। वहीं ऐसा करने से फोड़ा जल्द और बिना किसी परेशानी के ठीक भी हो जाता है। साथ ही अगर आपके पास करेले की जड़ नहीं है तो करले के पत्तो को पीसकर थोड़ा गर्म करके पट्टी बांध लें। इससे फोड़ा पक जाएगा और पस भी निकल जाएगी, दर्द से तुरंत राहत भी मिलेगा।

पथरी में भी है लाभदायक- जिन लोगों को पथरी की शिकायत है, वो करेले के रस का सेवन करें, क्योंकि यह पथरी के लिए बहुत ही अधिक फायदेमंद होता है। पथरी के वक्त ताजे करेले के रस का सेवन अवश्य करें।

Loading...