राजद और कांग्रेस ने राम मंदिर निर्माण में बाधाएं पैदा की: बीजेपी अध्यक्ष

जे॰पी॰ नड्डा जो भाजपा के अध्यक्ष है, उन्होने शनिवार को बिहार में विपक्षी महागठबंधन के दो प्रमुख घटक राजद और कांग्रेस पर हमला करते हुए दोनों दलों पर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण में बाधा उत्पन्न करने का आरोप लगाया। नड्डा ने यह भी आरोप लगाया कि राजद “अराजकता” के लिए जाना जाता है और कांग्रेस एक “राष्ट्र-विरोधी पार्टी” है।

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम जन्मभूमि भूमि विवाद मामले में दिन-प्रतिदिन सुनवाई केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद शुरू की।  जिससे दशकों बाद इस मामले में अंतिम निर्णय लेने का मार्ग प्रशस्त हुआ। भाजपा नेता ने कहा कि शीर्ष अदालत का फैसला राम मंदिर के पक्ष में गया और वर्तमान में अयोध्या में एक भव्य मंदिर का निर्माण चल रहा है। उन्होंने कहा, “देश में हर कोई अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर एक भव्य राम मंदिर देखना चाहता था, लेकिन कांग्रेस ने इस मामले को उलझाने के लिए सब कुछ किया।”

नड्डा ने कहा, “करोड़ों लोग एक भव्य राम मंदिर का निर्माण चाहते थे, लेकिन जब (लाल कृष्ण) आडवाणी जी ने अयोध्या में मंदिर के लिए अपनी रथयात्रा शुरू की, तो लालू प्रसाद ने इसे रोक दिया।” 23 अक्टूबर 1990 को, आडवाणी का रथ समस्तीपुर में आरजेडी बॉस और बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के आदेश से रोक दिया गया था।

नड्डा ने कहा कि बिहार के लोगों ने भी उस रथ यात्रा में भाग लिया। भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस की यह भी आलोचना की कि उसके वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल, जो अयोध्या भूमि विवाद मामले में शामिल एक पक्ष के वकील थे।  उन्होने उच्चतम न्यायालय में मामले को उलझाने की कोशिश की। नड्डा ने कहा, “राजद एक ऐसी पार्टी है जो अराजकता के लिए जानी जाती है। सीपीआई (एमएल) समाज में विनाश फैलाती है जबकि कांग्रेस एक राष्ट्रविरोधी पार्टी है। इस महा गठबंधन का विकास नहीं हो सकता।”

लालु प्रसाद के छोटे बेटे और ग्रैंड अलायंस के मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर हमला करते हुए, नड्डा ने पूछा कि उनकी पार्टी, जिसने कथित तौर पर अपने शासन के दौरान लोगों को आजीविका की तलाश में दूसरे राज्यों में पलायन करने के लिए मजबूर किया, क्या वे रोजगार प्रदान कर सकते हैं। तेजस्वी ने हाल ही में घोषणा की है कि अगर राजद के नेतृत्व वाले ग्रैंड अलायंस की सरकार बनती है, तो पहली ही कैबिनेट बैठक में 10 लाख सरकारी नौकरियों को मंजूरी दी जाएगी।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनके जदयू ने पिछला विधानसभा चुनाव ग्रैंड अलायंस के तहत लड़ा था, लेकिन उन्हें गठबंधन छोड़ना पड़ा। “ग्रैंड एलायंस क्यों टूट गया? ग्रैंड एलायंस टूट गया क्योंकि नीतीश कुमार जी ने समझा कि लोगों को सुशासन प्रदान करना उन लोगों के साथ संभव नहीं है जो कुशासन के लिए जाने जाते हैं”

नड्डा ने चीन से संबंधित मामलों पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर भी हमला किया। राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन से पैसा मिला है और अब राहुल गांधी खुद को राष्ट्रवादी होने का दावा करते हैं, नड्डा ने दावा किया। “मैंने उस पैसे का हिसाब मांगा है जो राजीव गांधी फाउंडेशन ने चीन से लिया था लेकिन मां (सोनिया गांधी) और बेटे ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।” उन्होने कहा की एक पाकिस्तानी मंत्री ने हाल ही में पुलवामा आतंकी हमले में अपनी भागीदारी स्वीकार की लेकिन राहुल गांधी सबूत मांग रहे थे। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी प्रधान मंत्री ने अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में राहुल गांधी के बयान का उल्लेख किया जिसने जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिया।

भाजपा सरकार ने सरदार वल्लभभाई पटेल की प्रतिमा बनवाई, जो दुनिया में सबसे ऊंची है और लाखों लोगों द्वारा उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की जाती है, लेकिन कांग्रेस नेता उस जगह पर नहीं जाते हैं। उन्होंने बिहार के विकास के लिए लोगों से एनडीए को वोट देने का आग्रह किया और दावा किया कि पहले चुनाव जाति और धर्म के आधार पर लड़े गए थे लेकिन नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद से यह राजनीतिक संस्कृति बदल गई है।