Breaking News
Home / ज्योतिष / अंधविश्वास से नहीं होता कोई भी नुकसान

अंधविश्वास से नहीं होता कोई भी नुकसान

हमारे देश में लोग तरह-तरह के अंधविश्वास में जकड़े होते हैं और इस कारण कई बार अपना नुकसान करा बैठते हैं। हमारे समाज में जितने भी अंधविश्वास फैले हुए हैं वो सब एक वहम मात्र है और उनसे हमारा कोई नुकसान नही होता है। आइये जानते हैं ऐसे ही अंधविश्वास के बारे में।

1. कुछ लोग अपने घर या दूकान पर निम्बु-मिर्च लटकाते हैं। इसके पीछे उनका मानना होता है कि इससे नेगेटिव एनर्जी अंदर नही आती है। जबकि सच्चाई यह है कि कई दुकानों में निम्बू-मिर्ची लगे होने के बाद भी चोरियां हो जाती है इसलिए हमेशा ध्यान रखें निम्बू और मिर्ची खाने के लिए होती है घरों या दूकान में टाँगने के लिए नहीं।

Loading...

2. अक्सर कोई व्यक्ति कहीं बाहर जा रहा होता है और तभी उसे या उसके सामने किसी को छींक आ जाए तो वो अपशकुन मानकर रूक जाता है। ऐसे लोगों को मै बताना चाहूँगा कि छींक आना एक सामान्य क्रिया है और इससे किसी तरह की कोई अनहोनी नहीं होती है। जबकि छींकने से हमारे शरीर की सुप्त पेशियां भी सक्रीय हो जाती है।

3. कई बार कोई आदमी कहीं जा रहा होता है और तभी उसके सामने से बिल्ली गुजर जाती है तो वो कुछ देर के लिए रूक जाता है या अपना रास्ता बदल लेता है। हमेशा याद रखें बिल्लियाँ भी हमारे समाज में हमारे साथ रहती है और इन्हे भी आने-जाने के लिए रास्ते की जरूरत होती है। बिल्लियों के रास्ता काटने से कुछ भी गलत नही होता है बल्कि बिल्लियाँ, चुहों को खाकर उनसे होने वाले नुकसान से हमे बचाती है।

4. कुछ लोगों को मेहनत करने के बाद भी मनवांछित सफलता नही मिलती है तो वे लोग बाबा और तांत्रिक के चक्कर में पड़ कर उनके दिए ताबीज पहनने लगते हैं और चौराहे पर दीपक जलाने लगाते हैं। ऐसे करने से उनका कुछ भला हो या न हो लेकिन उन तांत्रिक और बाबा का भला जरूर हो जाता है।

5. कई बार लोगों के साथ कुछ गलत होता है तो उन्हे लगता है कि किसी ने उन पर जादू-टोना कर दिया है और फिर वे लोग सोखा-ओझा और तांत्रिक के पास पहुँच जाते हैं। ऐसे लोगों से मै कहना चाहूँगा कि ये सब मन का वहम है और इन सब पर विश्वास न करें। अगर जादू-टोना जैसी चीज वाकई में होती तो आतंकवादियों को मारने के लिए हमें हथियारों पर पैसे खर्च करने की जरूरत नही पड़ती। सिर्फ उनपर जादू-टोना कर दिया जाता और वे खुद हीं मर जाते।

6. हमारे समाज में एक भ्रम ये भी फैला है कि पीपल और बरगद के पेड़ों पर भूत रहते हैं जबकि ऐसा कुछ नही है। बरगद और पीपल के पेड़ रात में भी ऑक्सीजन छोड़ते हैं और ये बात हमारे पूर्वजों को मालूम थी इसलिए उन्होने इस तरह का भ्रम फैलाया कि इन पेड़ों पर भूत रहते हैं जिससे कोई भी इन पेड़ों को काटने के बारे में सोचे भी नही।

7. घर मे क्लेश होने पर, लड़ाई-झगड़ा होने पर लोग घर के वास्तु को भी दोष देते हैं और वास्तु ठीक करने के लिए हजारो-लाखों रूपये खर्च कर देते हैं। जबकि सच्चाई यह है कि पृथ्वी अपनी धूरी पर घूमते हुए हर पल अपनी दिशा बदल रही होती है। इसलिए दिशाओं और वास्तुशास्त्र के मुताबिक अपना घर बनवाना सिर्फ अपने आप को भ्रम में रखना भर है।

8. कुछ लोग सोचते हैं कि धार्मिक स्थलों पर जाकर चढावा चढाने या बलि देने से भगवान या खुदा प्रसन्न होते हैं। ऐसा करने से आपके ईश्वर प्रसन्न हो या न हो लेकिन इससे आप अपने ईश्वर को रिश्वतखोर साबित करने में कोई कसर नही छोड़ते। याद रखिए जो ईश्वर हमे धन-दौलत दे सकता हैं उसे हमारे धन-दौलत की जरूरत नही है।

हमेशा याद रखिए कुछ अपवाद छोड़ कर अंधविश्वास से हमेशा ही नुकसान होता है। इसलिए अंधविश्वास छोड़िए और अपनी मेहनत पर विश्वास करिए। इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर कर के दूसरो को भी बताइये कि वो इन सब चक्कर में न पड़ें, इसी में उनकी भलाई है।Share

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *