Breaking News
Home / मनोरंजन / कई भाषाओं की फिल्मों में काम कर चुका है यह एक्टर, विलेन बनकर मचाई धूम

कई भाषाओं की फिल्मों में काम कर चुका है यह एक्टर, विलेन बनकर मचाई धूम

दक्षिण भारतीय फिल्मों से लेकर हिन्दी फिल्मों में अपनी नकारात्मक भूमिका से अदाकारी का लोहा मनवाने वाले एक्टर आशीष विद्यार्थी का जन्म जन्म 19 जून 1962 को केरल के कन्नूर में हुआ था। आशीष अलग-अलग भाषाओं की फिल्म में मुख्य रूप से काम करने वाले अभिनेता हैं। आशीष बॉलीवुड, तमिल, कन्नड़, मलयालम, तेलुगू, बंगाली, अंग्रेजी में, ओडिया और मराठी सिनेमा में काम कर चुके हैं।

loading...

उन्होंने टीवी धारावाहिक हम पंछी एक चाल के में भी अभिनय किया। 1995 में, उन्हें द्रोहकाल के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला। टेलीचेरी (अब थालास्सेरी) कुन्नुर, केरल में कथक गुरु और गोविंद विद्यार्थी ओर उनकी पत्नी रेबा विधार्थी के घर में जन्मे आशीष विधार्थी शिव निकेतन स्कूल, 7, हैली रोड, नई दिल्ली में अपनी पढ़ाई शुरू करने के बाद, वह बाद में भारतीय विद्या भवन, कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली शिफ्ट हो गए थे। 1983 में, आशीष ने हिंदू कॉलेज में में इतिहास का अध्ययन किया।

जहां वह संभार नामक रंगमंच समूह में शामिल हो गए, इसके बाद उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा पूर्व छात्रों द्वारा संचालित और प्रदर्शन कला में अपनी यात्रा शुरू की। उन्होंने 1990 तक नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में भी भाग लिया।ञ इसके अलावा आशीष ने एन के शर्मा द्वारा संचालित एक अन्य रंगमंच समूह, एक्ट वन से भी खुद को जोड़े रखा।

1992 में, वह मुंबई चले आए। आशीष ने सरदार वल्लभाई पटेल के जीवन पर आधारित अपनी पहली फिल्म सरदार में वी पी मेनन की भूमिका निभाई। हालांकि, उनकी पहली रिलीज द्रोहकाल थी, जिसके लिए उन्होंने 1995 में सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता था।

वह 1942 में आई ए लव स्टोरी में उनके द्वारा निभाए गए आशुतोष के रोल ने भी उन्हें काफी लोकप्रियता दिलाई। 1996 की फिल्म इज रात की सुबह नहीं के लिए आशीष को नकारात्मक भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए स्टार स्क्रीन अवॉर्ड मिला था।

Loading...
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *