#BoycottAliabhatt: घरेलू हिंसा मर्दों के लिए नॉर्मल कैसे? ‘डार्लिंग्स’ पर भड़के लोग

आलिया भट्ट कुछ भी नहीं है बल्कि भारत की एंबर हर्ड हैं, वह आदमियों के साथ होने वाली घरेलू हिंसा का मजाक बनाकर उसे एंटरटेनमेंट के रूप में परोसना चाहती हैं‌‌‌….उनकी फिल्म Darlings को बायकॉट किया जाना चाहिए…..‘ ऐसे बहुत से कमेंट्स के साथ सोशल मीडिया यूजर आलिया भट्ट की फिल्म डार्लिंग्स को बायकॉट करने की मांग कर रहे हैं। 5 अगस्त को रिलीज होने जा रही आलिया और शेफाली शाह की इस फिल्म को बायकॉट करने की मांग की जा रही है।

घरेलू हिंसा मजाक का मुद्दा नहीं

दरअसल आलिया की इस फिल्म से लोगों को ये आपत्ति हो रही है कि कोई कैसे घरेलू हिंसा को कॉमेडी से जोड़ सकता है। फिर चाहे घरलू हिंसा का शिकार औरत हो या मर्द दोनों के लिए ही ये एक संवेदनशाील मुद्दा है। आलिया इस फिल्म में अभिनय के अलावा इसे प्रोड्यूस भी कर रही हैं

इसलिए उन्हें फिल्म के ट्रेजिक कॉमेडी प्लॉट के लिए जिम्मेवार ठहराया जा रहा है। कुछ यूजर्सने तो आलिया को भारत की एंबर हर्ड तक बोल दिया है। आपको बता दें एंबर हर्ड हॉलीवुड एक्ट्रेस हैं जो हाल ही में अपने पूर्व पति और जाने माने एक्टर जॉनी डेप से तलाक का केस हार गईं थीं। एक्ट्रेस द्वारा पति पर किए गए घरेलू हिंसा के आरोप कोर्ट में सच साबित हुए थे।

मर्दों के प्रति घरेलू हिंसा को बढ़ावा दे रही हैं आलिया

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने जा रही इस फिल्म की कहानी दरअसल दो औरतों पर होने वाली घरेलू हिंसा पर बेस्ड है। ये औरतें मिलकर अपने साथ हुए जुल्म का बदला लेती हैँ। फिल्म में के ट्रेलर में ही आलिया और शेफाली दोनों पर हो रहे जुल्म के सीन्स संवेदनशीलता से फिल्माया गया है जबकि मेल एक्टर के साथ हो रहे टॉर्चर सीन्स में कॉमेडी एंगल दिखाया गया है। अब बस मर्द और औरत के दर्द के इसी भेदभाव पर सोशल मीडिया पर आपत्ति जताई जा रही है।

यह पढ़े: उर्फी जावेद अब हो गईं टॉपलेस, देखें कैसे फ्रंट से खुद को बालों से किया कवर