ब्रेन को करना है शार्प तो, दोस्ती करे किताबों से !

स्मार्टफोन के इस युग में हर विषय से संबंधित इतने एप्स आ गए हैं कि मनुष्य का किताबों से नाता ही टूट गया है।

लेकिन इसके बावजूद भी किताबों की अहमियत कम नहीं हुई है। अगर आप प्रतिदिन किताबें पढ़ते हैं तो इसका सकारात्मक असर आपके दिमाग पर पड़ता है, आईए जानते हैं कैसे-

रोजाना किताब पढ़ने से आपका माइंड शार्प होता है, वहीं कैलकुलेटर व अन्य एप्स आपके माइंड को कमजोर बनाते हैं।

किताबें पढ़ने से आपके दिमाग के काम करने के तरीके में भी बदलाव आता है।

खासतौर से, नकारात्मक सोच रखने वाले व्यक्ति यदि प्रतिदिन इंस्पीरेशनल किताबें पढ़ते हैं तो उनका जीवन के प्रति सकारात्मक रवैया विकसित होता है।

यह भी पढ़ें-

स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है नींबू पानी का सेवन,जाने क्यों!