ब्रैस्ट फीडिंग कराने से बढ़ा मां का वजन होता है कम

माँ बनाना हर महिला के जीवन का सबसे अच्छा सुख होता है और अपने बच्चे को अपना दूध पिलाना सबसे अच्छा नसीब। लेकिन ब्रैस्ट फीडिंग सिर्फ एक भावनात्मक प्रक्रिया नहीं है बल्कि ब्रैस्ट फीडिंग से कई स्वास्थ्यवर्धक लाभ भी मिलते हैं। ब्रत फीडिंग माँ और बच्चे दोनों के लिए लाभदायक होती है तो आइये जानते हैं इसके फायदे:

माँ के दूध में प्रोटीन और एमिनो ऐसिड पाया जाता है जो बच्चे की ग्रोथ के लिए बहुत लाभदायक होता है।

ब्रैस्ट मिल्क बैक्टीरिया मुक्त और फ्रैश होता है, इसलिए बच्चा इस दूध को पीने से हर तरह की इन्फेक्शन से बचा रहता है।

ब्रैस्ट मिल्क हड्डियों को अच्छी तरह ग्रो करने और मजबूत बनाने में सहायक होता है।

ब्रैस्ट फीडिंग कराने से प्रैगनैंसी के दौरान बढ़ा मां का वजन धीरेधीरे कम होता जाता है।

अधिक उम्र में बच्चा होने पर भी अगर महिला सही तरह से स्तनपान कराती है तो कैंसर के अलावा मधुमेह, मोटापा और अस्थमा जैसी बीमारियों से भी छुटकारा मिलता है।

क्या मैस्टरबेशन या सम्बन्ध बनाने के दौरान स्पर्म निकलने से शरीर की इम्युुनिटी पर असर पड़ता है? जानिए सही जवाब

 पाचन संबंधी हर समस्या होगी छूमंतर, अपनाएं ये आयुर्वेदिक तरीके