स्तनपान को भी सही तरह से करना बेहद आवश्यक होता है

छोटे बच्चों के लिए मां का दूध ही सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। बच्चे के जन्म से लेकर छह माह तक सिर्फ और सिर्फ स्तनपान करवाने की ही सलाह दी जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्तनपान को भी सही तरह से करवाना बेहद आवश्यक है।

ब्रैस्टफीडिंग अगर सही तरीके से न करवाई जाए तो मां और बच्चे दोनों के लिए दिक्कत खड़ी हो सकती है। तो चलिए जानते हैं कि ब्रैस्टफीड करवाते समय सही पोजिशन क्या है-

शिशु को ब्रेस्ट फीड करवाने के लिए बैठकर दूध पिलाना सबसे अच्छा माना जाता है। इसमें आप अपनी सहूलियत के लिए अपनी पीठ को टेक देकर बैठना चाहिए। इसे लेड बैक पोजिशन कहा जाता है। इस पोजीशन में मां बच्चे को अपनी गोद में लेटाकर रखती और शिशु का सिर मां के सीने के पास होता है।

वहीं अगर ब्रैस्टफीडिंग करवाते समय अगर बच्चे को दिक्कत हो रही होती है तो अधिकतर महिलाएं कुर्सी या तकिए का इस्तेमाल करती हैं। इससे बच्चा उनके नजदीक आ जाता है और फिर वह आराम से स्तनपान करवा पाती हैं।

अगर रात में आप लेटकर बच्चे को स्तनपान करवा रही हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि निप्पल बच्चे के मुंह तक अच्छे से पहुंचे ताकि वह आसानी से दूध पी पाएं। वैसे कोशिश करें कि रात में भी आप उसे बैठकर ही दूध पिलाएं।

 

यह भी पढ़ें-

रात को करें इन खाद्य पदार्थों का सेवन, होगा वेट कम