आज़ से बिहार में फिर शुरू होगा बसों का परिचालन, क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद परिवहन सचिव ने जारी किया निर्देश

बिहार मे परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने आज से सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को फिर से सुचारु रूप से परिचालन करने का निर्देश दिया है। मंगलवार से बसों का परिचालन दुबारा शुरु हो जाएगा। सोमवार को मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को सुचारू रूप से लागू कराने के लिए सभी डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश दिया है। परिचालन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, बस के ड्राइवर से लेकर, कंडक्टर एवं सफर करने वाले सभी यात्रियों को मास्क पहनना सुनिश्चित कराने के लिए परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद ट्रांसपोर्टरों के साथ बैठक की। इस बैठक मे उन्होने बसों के परिचालन के लिए निर्धारित दिशा-निर्देशों को सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया।

परिवहन सचिव श्री संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि, “बिहार में जारी अनलॉक-3  के क्रम में सार्वजनिक परिवहन पर रोक थी जिसमे ऑटो, टैक्सी और कैब को छूट दी गयी थी। क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में लिये गए निर्णय के आलोक में 25 अगस्त से राज्य में बसों एवं अन्य सार्वजनिक परिवहन वाहनों का परिचालन कोविड-19 के तहत सरकार द्वारा निर्धारित प्रावधानों के तहत ही किया जा सकेगा बसों के ड्राइवर, कंडक्टर एवं सभी यात्रियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा एवं सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करना होगा। ऐसा नहीं किये जाने पर संबंधित बस संचालक/मालिक पर कार्रवाई की जाएगी एवं बस का परमिट रद्द करने की भी कार्रवाई की जा सकती है”।

बसों के परिचालन के क्रम में परिवहन सचिव द्वारा जो व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने का निर्देश जारी किया गया है, उसमे है-

यात्रियों द्वारा:

  • वाहनों में सफर करते समय मास्क अवश्य पहनें अथवा मुंह को ढंककर रखें।
  • बिना मास्क पहने बस में सफर की अनुमति नहीं होगी।
  • वाहनों में चढ़ने से पूर्व सेनिटाइजर का उपयोग करें।
  • वाहनों की रेलिंग का उपयोग कम से कम करें।
  • वाहनों में चढते-उतरते समय भीड़ नहीं करें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करें।
  • वाहनों के अंदर पान, खैनी, तम्बाकू, गुटखा आदि का उपयोग वर्जित होगा। पकड़े जाने पर दण्ड के भागी होंगे।
  • बस स्टैण्ड/टैक्सी स्टैण्ड में यत्र-तत्र थूकना वर्जित होगा। पकड़े जाने पर दण्ड के भागी होंगे एवं कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

वाहन चालक एवं कण्डक्टर द्वारा:

  • वाहनों में चढने से पूर्व यात्री को हाथ साफ करने हेतु सेनिटाइजर उपलब्ध कराएँगे।
  • वाहनों की प्रतिदिन धुलाई की जाएगी एवं आवश्यक साफ-सफाई की जाएगी।
  • प्रत्येक ट्रिप की समाप्ति के बाद बस की पुनः सफाई आवश्यक होगी।
  • वाहनों के अंदर चढ़ने, उतरने के समय यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराएँगे।

 वाहन मालिक द्वारा:

  • वाहन को प्रतिदिन धुलवाने, साफ-सुथरा रखने एवं प्रत्येक ट्रिप के बाद बसों को सेनिटाइज कराना सुनिश्चित करवाएँगे।
  • ड्राइवर एवं कण्डक्टर को साफ कपड़े, मास्क और ग्लब्स पहनने का निर्देश देंगे।
  • वाहनों के अंदर एवं बाहर कोविड-19 के संक्रमण से बचावों के उपायों संबंधी पोस्टर/स्टिकर चिपकाना सुनिश्चित करने के साथ ही जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए गए पम्पलेट का यात्रियों के बीच वितरण सुनिश्चित कराएँगे।
  • वाहनों के अंदर चढ़ने, उतरने के समय सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन सुनिश्चित कराने की जिम्मेवारी भी वाहन मालिकों की ही होगी।
  • वाहनों में निर्धारित सीट के अतिरिक्त एक भी यात्री नहीं लिया जाएगा, इसकी हिदायत ड्राइवर एवं कण्डक्टर को देंगे।
  • वाहनों में सेनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे।

जिला प्रशासन द्वारा:

  • जिला प्रशासन द्वारा अपने क्षेत्रान्तर्गत प्रत्येक बस स्टैण्ड/टैक्सी स्टैण्ड पर दण्डाधिकारी के साथ पर्याप्त संख्या में पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की जाएगी, जो यह सुनिश्चित करेगा कि बसों में सोशल डिस्टेंसिंग, साफ-सफाई संबंधी प्रोटोकाल का अनुपालन किया जा रहा है साथ ही बसों में निर्धारित क्षमता के अनुसार ही यात्री बैठाए जा रहे हैं एवं यात्रियों से निर्धारित किराया ही वसूला जा रहा है। इसकी जिम्मेवारी भी प्रशासन की ही होगी।
  • वाहनों के परिचालन संबंधी उपरोक्त निर्देश परमिट की शर्तो मे ही सम्मिलित माने जाएँगे एवं उल्लंघन की स्थिति में मोटर वाहन अधिनियम के साथ-साथ आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत संबंधित चालक/वाहन स्वामी के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
  • जिला प्रशासन द्वारा वाहन मालिकों को कोविड-19 के संक्रमण से बचाव एवं बरती जाने वाली सावधानियाँ सम्बन्धी पम्पलेट पर्याप्त संख्या में उपलब्ध कराया जाएगा, जिसका वितरण यात्रियों के बीच किया जाएगा।
  • बस स्टैण्डों/टैक्सी स्टैण्डों पर एनाउन्समेंट की व्यवस्था करेंगे जिसके माध्यम से कोविड-19 के संक्रमण से बचाव सम्बन्धी उपायों को प्रसारित कराएँगे। साथ ही लोगों को भीड़ न लगाने, यत्र-तत्र न थूकने, मास्क पहनने आदि की हिदायत भी दी जाएगी।
  • निकायों द्वारा बस स्टैण्डों पर आवश्यक साफ-सफाई एवं सेनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जाएगा।