ये टिप्स फॉलो कर महिलाये बिता सकती हैं तनाव रहित जिंदगी

वर्तमान समय की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर कोई डिप्रैशन का शिकार हो रहा हैं लेकिन पुरूषों की तुलना में महिलाएं बहुत अधिक इसकी चपेट में आ रही है। महिलाओं का डिप्रैशन में जाने का मुख्य कारण उन्हें जॉब के साथ घर के सदस्यों और काम की जिम्मेदारियां होती हैं। ऑफिस पहुंच कर भी उन्हें बच्चों और घर के काम की चिंता सताती रहती है। वह हर वक्त कुछ न कुछ सोचती रहती है। सभी लोग उनके साथ होने पर भी वह बहुत ही अकेलापन महसूस करती है। आज हम आपको महिलाओं के डिप्रैशन में जाने के कारण और उसे दूर करने के टिप्स बताएंगे, जिसे फॉलो करके वह तनाव रहित जिंदगी बिता सकती हैं।

महिलाओं का डिप्रैशन में जाने के कारण

1. पुरूषों का गलत व्यवहार

महिलाओं का डिप्रैशन में जाने का सबसे बड़ा और मुख्य कारण पुरूषों का उनके प्रति गलत व्यवहार है। महिलाओं का पूरा दिन बाहर काम करने के बावजूद उसका पति जब उसे सम्मान और प्यार नहीं देता तो वह पूर्ण्तः तनाव से ग्रसित होने लगती है।

2. घरेलू हिंसा के कारण

महिलाओं का घर के प्रति पूरा लगाव होने के बावजूद भी जब उसकी कभी सुनवाई नहीं होती तो वह डिप्रैशन में जाने लगती है। उसे लगने लगता है वह सभी के बारे में इतना सोचती है लेकिन घर में फिर भी उनकी कोई खास अहमियत नहीं है।

3. बढ़ती जिम्मेदारियों के कारण

कुछ महिलाओं को घर के कामकाज के साथ जॉब भी करनी पड़ती है। ऑफिस से घर आकर उन्हें बच्चों की पढ़ाई की टेंशन होने लगती है। वह हर वक्त कुछ न कुछ सोचती रहती हैं। इससे उन्हें आराम करने का कोई समय नहीं मिल पाता और वह तनाव ग्रसित रहने लगती है।