शकरकंद डायबिटीज के मरीजों के लिए हो सकता है फायदेमंद? जानिए स्वीट पोटैटो के अन्य फायदे

शकरकंद फाइबर का एक समृद्ध स्रोत होने के साथ-साथ आयरन, कैल्शियम, सेलेनियम सहित विटामिन और मिनरल्स की भी एक सरणी है। यह हमारे शरीर को विटामिन-बी और विटामिन सी प्रदान करता है। शकरकंद में एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में मौजूद होता है, साथ ही इसमें बीटा-कैरेटिन भी होता है जो शरीर को कई स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है। शकरकंद को लेकर कई लोगों के दिमाग में यह सवाल रहता है कि क्या डायबिटीज के लोगों के लिए इसे अपनी डाइट में शामिल करना सही है? आइए हम आपको इस सवाल का जवाब बताते हैं, साथ ही शकरकंद के अन्य लाभों की भी जानकारी देते हैं।

क्या शकरकंद टाइप 2 डायबिटीज को प्रबंधित करने में मदद कर सकता है?
यह एक ऐसा क्षेत्र है, जिसे और अधिक शोध की आवश्यकता है, लेकिन कुछ अध्ययनों से पता चला है कि शकरकंद और शकरकंद की पत्तियों के मध्यम सेवन से टाइप 2 डायबिटीज में ब्लड शुगर के नियमन में सुधार हो सकता है।

क्या शकरकंद आंखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है?
फूड एंड न्यूट्रिशन रिसर्च के एक अध्ययन में पाया गया है कि शकरकंद में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जिन्हें एंथोसायनिन के रूप में भी जाना जाता है जो आंखों के लिए फायदेमंद होते हैं। यह तत्व आंखों की रोशनी को तेज करने में मदद करता है, साथ ही आंखों की अन्य समस्याओं को भी दूर करता है।

क्या शकरकंद पाचन के लिए अच्छा होता है?
शकरकंद में फाइबर अधिक होता है, जो एक स्वस्थ पाचन तंत्र को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है। अब तक किए गए अधिकांश शोध में यह पाया गया है कि शकरकंद की उच्च फाइटोस्टेरॉल सामग्री पाचन तंत्र पर सुरक्षात्मक प्रभाव डालती है और गैस्ट्रिक अल्सर की रोकथाम और प्रबंधन में महत्वपूर्ण हो सकती है। इसलिए हर किसी को अपनी डाइट में शकरकंद शामिल करना चाहिए।

क्या शकरकंद कैंसर के खतरे को कम करने में मदद कर सकता है?
फल और सब्जियां एंटीऑक्सीडेंट में उच्च होते हैं जो शरीर को ‘फ्री रेडिकल्स’ द्वारा नुकसान से बचाने में मदद करते हैं। अध्ययनों ने सुझाव दिया है कि विशेष रूप से बैंगनी मीठे आलू के छिलके में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो इस ऑक्सीकरण प्रक्रिया को कम करने में मदद कर सकता है, जिससे कैंसर का खतरा कम हो सकता है।

यह भी पढे –

सोने से पहले गर्म पानी पीना वजन कम करने में करता है मदद, और भी हैं कई फायदे