डिब्बाबंद दूध को पचाना कठिन है छोटे बच्चों के लिए

यूं तो छोटे बच्चों के लिए मां का दूध ही सर्वोत्तम आहार माना जाता है। लेकिन फिर भी कभी-कभी स्तनों में पर्याप्त दूध ना बनने के कारण या फिर सुविधा की दृष्टि से अक्सर मां बच्चों को डिब्बाबंद दूध पिलाती है। आपके लिए यह भले ही बेहद आसान रास्ता हो, लेकिन वास्तव में यह आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर डालता है। तो चलिए जानते हैं डिब्बाबंद दूध से होने वाली हानियों के बारे में-

अक्सर छोटे बच्चे डिब्बाबंद दूध को पचा नहीं पाते जिनसे उन्हें पेट में दर्द की शिकायत होती है।

इतना ही नहीं, कुछ विदेशी दूध कंपनियां डिब्बाबंद दूध पाउडर में मेलामिन नाम का एक तत्व मिलाती हैं जो आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव डालती है।

आजकल मार्केट में नकली दूध पाउडर भी बड़ी मात्रा में मिल रहा है। आमतौर पर लोगों के लिए असली डिब्बाबंद दूध और नकली में अंतर करना काफी मुश्किल होता है। शायद आपको पता ना हो कि नकली दूध यूरिया और डिटर्जेंट से तैयार किया जाता है, जिससे बच्चे को बहुत सी बीमारियों का सामना करना पड़ता है।