Breaking News
Home / ज्योतिष (page 4)

ज्योतिष

जानिए, क्यों और कब से मनाया जाने लगा नवरात्रि

नवरात्रि का अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के महा शक्ति देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है।। नवरात्रि वर्ष में चार बार आता है। नवरात्रि में तीन देवियों – लक्ष्मी , सरस्वती माँ दुर्गा के नौ रुपों की पूजा होती है इन्हें ही नवदुर्गा कहा जाता  हैं। नवरात्रि मानाने के सभी राज्यों  …

Read More »

ज्योतिष: इन चीजों को सिरहाने रखकर सोने से होती है हानि!

अगर वास्तुशास्त्र की मानें तो सिरहाने कुछ चीजें रखना नुकसानदायक हो सकती है। इन चीजों से ना ही सिर्फ धन की हानि होती है, बल्कि स्वास्थ्य पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है। पर्स या बटुआ भी सोते समय सिर के पास नहीं रखना चाहिए। इससे फिजुलखर्ची बढ़ती है। कई बार हम किताब को सिरहाने रख के सो जाते है। किताबें …

Read More »

शारदीय नवरात्रि 2019: जानिए घट-स्थापना का मुहूर्त तथा पूजन तिथि

इस वर्ष शारदीय नवरात्र 29 सितम्बर से शुरू हैं। नौ दिनों तक चलने वाली इस विशेष पूजा में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। प्रत्येक वर्ष मां दुर्गा की पूजा में विशेष पूजा स्थल, पूजन मुहूर्त, पूजन विधि आदि पर ध्यान दिया जाता है. जानिए मां दुर्गा का घट-स्थापना का मुहूर्त: कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त …

Read More »

शाम को भूलकर भी नहीं करने चाहिए ये 4 काम!

धर्म शास्त्रों में बहुत सारी बातों को काफी विशेष माना गया है। कुछ बातों को मां लक्ष्मी से जोड़कर देखा जाता है। ज्योतिषियों और घर के बड़े बुजुर्गों की मानें तो घर में शाम को कुछ कामों को करने से धन की हानि होती है। कहा जाता है कि इससे मां लक्ष्मी रूठ जाती हैं और घर के सदस्यों को …

Read More »

दादी माँ की इस बात में छुपे हैं कई अच्छे संदेश

आपने अपने बुजुर्गों से हमेसा यह कहते सुना होगा कि जिस घर में नमक बंधा होता है उस घर में बहुत बरकत रहती है। वहीं, जिस घर में नमक नहीं होता वहां लक्ष्मी वास भी नहीं करतीं। ऐसा माना जाता है कि हल्दी की गाठों में साक्षात भगवन गणेश का वास् होता है। वास्तु शास्त्र के हिसाब से भी दोनों …

Read More »

आर्थिक तंगी हो या बिज़नेस की समस्या सब हो जाएँगी खत्म, सिर्फ दूध का करें ऐसे उपयोग

अगर ज्योतिष शास्त्र की माने तो दूध को चंद्रमा का कारक माना गया है। माना जाता है कि दूध को शिवलिंग पर चढ़ाने से सभी ग्रहों का बुरा प्रभाव बिल्कुल खत्म हो जाता है। वहीं राहु की शांति के लिए भी सांप को दुध पिलाना बहुत शुभ माना जाता है। दूध को लेकर ऐसे ही कई बातें है जिससे हर …

Read More »

ओंकारेश्वर: न किसी मनुष्य के द्वारा गढ़ा न बनाया हुआ है, बल्कि प्राकृतिक शिवलिंग है यह

ओंकारेश्वर लिंग किसी मनुष्य के द्वारा गढ़ा, तराशा या बनाया हुआ नहीं है, बल्कि यह प्राकृतिक शिवलिंग है। इसके चारों ओर हमेशा जल भरा रहता है। प्राय: किसी मन्दिर में लिंग की स्थापना गर्भ गृह के मध्य में की जाती है और उसके ठीक ऊपर शिखर होता है, किन्तु यह ओंकारेश्वर लिंग मन्दिर के गुम्बद के नीचे नहीं है। इसकी …

Read More »

‘राधाकृष्ण’ शो में मिलेगा भगवान वष्णु के वामन अवतार का परिचय

स्टार भारत का लोकप्रिय शो ‘राधाकृष्ण’, राधा और कृष्ण के जीवन का महाकाव्य, उनकी प्रेम कहानी पर आधारित है। इस कहानी में दोनों के प्रेम की गहराई को समझाया गया है, जिस कारण आज भी दोनों एक हैं। इसी कड़ी में अब शो के करेंट ट्रैक में दर्शकों को विष्णु के सात अवतार देखने को मिल रहे हैं, जिसमें से …

Read More »

मल्लिकार्जुन: इनके दर्शन मात्र से दूर हो जाते हैं सारे कष्ट और दुःख

आन्ध्र प्रदेश के कृष्णा ज़िले में कृष्णा नदी के तट पर श्रीशैल पर्वत पर श्रीमल्लिकार्जुन विराजमान हैं। इसे दक्षिण का कैलाश कहते हैं। अनेक धर्मग्रन्थों में इस स्थान की महिमा बतायी गई है। महाभारत के अनुसार श्रीशैल पर्वत पर भगवान शिव का पूजन करने से अश्वमेध यज्ञ करने का फल प्राप्त होता है।  दर्शन मात्र करने से दर्शको के सभी …

Read More »

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग: देश के सबसे अधिक पूजे जाने वाले तीर्थस्थलों में से एक है ये मंदिर

गुजरात राज्य सोमनाथ मंदिर भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग में से एक है। सोमनाथ मंदिर को पृथ्वी का पहला ज्योतिर्लिंग माना गया है।सोमनाथ देश के सबसे अधिक पूजे जाने वाले तीर्थस्थलों में से एक है। सोमनाथ ज्योतिर्लिंग की कहानी- भगवान शिव इस तीर्थ में प्रकाश के एक जलमग्न स्तंभ के रूप में प्रकट हुए थे। शिव पुराण की कहानियों से …

Read More »