Breaking News
Home / सम्पादकीय

सम्पादकीय

जलवायु परिवर्तन: बेसिक देशों को निभानी होगी महत्वपूर्ण भूमिका

इस वर्ष 2 से 13 दिसंबर के बीच जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र रुपरेखा (यूएनएफसीसी) के लिए पार्टियों केसम्मेलन(सीओपी-25) की तैयारी हेतु बेसिक देशों ने ब्राजील के साओ पाउलोमें 14 से 16 अगस्त तक जलवायु परिवर्तन पर अपनी 28 वीं मंत्रिस्तरीयबैठक आयोजित की। भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने किया। उन्होंने कहा कि …

Read More »

मनुष्य जब बहुत अधिक दर्द सहन करने के लिए विवश हो जाता है, तब एक समय ऐसा भी आता है

मनुष्य जब बहुत अधिक दर्द सहन करने के लिए विवश हो जाता है, तब एक समय ऐसा भी आता है, जब वही दर्द उसकी दवा बन जाता है। उस दर्द को सहन करते-करते मनुष्य के मन में उस कष्ट को बर्दाश्त करने की शक्ति आ जाती है। तब वह दुख शायद उसके जीवन का एक अहं अंग बन जाता है, …

Read More »

ब्रिटिश ईस्ट कंपनी का गठन कैसे हुआ?

दक्षिण व दक्षिण-पूर्व एशियाई राष्ट्रों के साथ व्यापार करने के लिए 1600 ई. में जॉन वाट्स और जॉर्ज व्हाईट द्वारा ब्रिटिश जॉइंट स्टॉक कंपनी| जिसे “ईस्ट इंडिया कंपनी” के नाम से जाना जाता है, की स्थापना की गयी थी। प्रारंभ में इस जॉइंट स्टॉक कंपनी के शेयरधारक मुख्य रूप से ब्रिटिश व्यापारी और अभिजात वर्ग के लोग थे और ईस्ट इंडिया कंपनी …

Read More »

क्यों महत्वपूर्ण था भारत छोड़ो आंदोलन ?

“भारत छोड़ो आंदोलन” देश का सबसे बड़ा आन्दोलन था जिसकी वजह से अंग्रेज भारत छोड़ने पर मजबूर हो गए थे| यह आन्दोलन ऐसे समय प्रारंभ किया गया जब दुनिया काफी बदलावों के दौर से गुजर रही थी। पश्चिम में युद्ध लगातार जारी था और पूर्व में साम्राज्‍यवाद के खिलाफ आंदोलन तेज होते जा रहे थे। एक तरफ भारत महात्मा गाँधी …

Read More »

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक जिन्होंने आजादी दिलाने में निभाई थी अहम भूमिका

भारत की आजादी की लड़ाई में लाखों लोगों ने भाग लिया था लेकिन कुछ ऐसे भी लोग थे जो एक नई प्रतीक या प्रतिमा के साथ उभरे| हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के लिए जीवन, परिवार, संबंध और भावनाओं से भी ज्यादा महत्वपूर्ण था हमारे देश की आजादी| इस पूरी लड़ाई में काई व्यक्तित्व उभरे, कई घटनाएं हुई, इस अद्भुत क्रांति में …

Read More »

जानिए, पहली बार अंग्रेज कब और क्यों आये थे भारत

वास्को डी गामा  20 मई, 1498 में भारत आगमन ने यूरोप और पूर्वी देशों के बीच समुद्री मार्ग का रास्ता खोल दिया था। इसी के साथ भारत यूरोपीय देशों के लिए सबसे प्रमुख व्यापारिक केंद्र बन गया और यूरोपीय देशों में यहां के मसालों के व्यापार पर एकाधिकार स्थापित करने की महत्वाकांक्षा बढ़ती चली गई, जिसके परिणामस्वरूप कई नौसैनिक युद्ध …

Read More »

स्वतन्त्रता दिवस पर विशेष: क्या मजाल है कि शत्रु इसकी ओर आँख उठाकर भी देख ले

स्वतन्त्रता दिवस की सभी भारतवासियों को हार्दिक शुभकामनाएँ। हम भारतीयों के संस्कार में है कि अपनी जन्मभूमि को जन्मदात्री माता से कम नहीं मानते। इसकी मिट्टी से तिलक लगाकर रणबाँकुरे बिना परवाह किए अपने प्राणों की बाजी लगा देते हैं। इसके पीछे भावना मातृभूमि की सुरक्षा करने की होती है। क्या मजाल है कि शत्रु इसकी ओर आँख उठाकर भी …

Read More »

भारत-पाकिस्तान: दोनों के बीच कितने युद्ध हुए और उनके क्या थे कारण ?

वर्ष 1947 में, पाकिस्तान, भारत से ब्रिटिश शासन से आजाद होने के बाद बना था. भारत और पाकिस्तान के बीच की युद्ध श्रृंखला को भारत-पाकिस्तान युद्ध का नाम दिया गया है. क्या आप जानते हैं कि 1965 में कच्छ के रण में पकिस्तान ने अपनी झड़प शुरू की थी और इस ऑपरेशन का नाम ‘डेजर्ट हॉक’ रखा था. जंग की …

Read More »

किसी सजा से कम नहीं है अकेलापन

अकेलापन मनुष्य के लिए किसी सजा से कम नहीं है, वह एक अभिशाप है। अकेलेपन का अहसास मनुष्य को भीतर तक तोड़ देता है। वह बिन बुलाए मेहमान की तरह बिना किसी आमन्त्रण के आ धमकता है और विदा होने का नाम नहीं लेता। घर के सदस्यों के द्वारा अनदेखा किए जाने पर भी वह किसी अड़ियल और ढीठ अतिथि …

Read More »

योगी सरकार ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज करा लिया अपना ये काम

उत्तर प्रदेश में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्व में एक ऐसा कार्य किया गया है जिसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज किया गया है। योगी सरकार ने भारत छोड़ो आंदोलन की 77वीं सालगिरह पर पौधारोपण कार्यक्रम के तहत गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में नाम दर्ज करा लिया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने वृहद वृक्षारोपण अभियान के तहत …

Read More »