Breaking News
Home / साहित्य

साहित्य

अबू धाबी: हिंदी अदालतों की तीसरी आधिकारिक भाषा के रूप में शामिल

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की राजधानी अबू धाबी में हिंदी को अदालत की तीसरी आधिकारिक भाषा के रूप में शामिल किया गया है। इस समय लगभग दुनिया के हर हिस्से में अब आपको कोई न कोई हिंदी बोलने वाला मिल जाएगा। हिंदी को अदालतों की तीसरी आधिकारिक भाषा के रूप में शामिल करने का ऐतिहासिक फैसला लिया है ताकि संयुक्त …

Read More »

श्वेता बच्चन के उपन्यास ने बनाया बिक्री रिकॉर्ड, अमिताभ ने की तारीफ

महानायक अमिताभ बच्चन ने अपनी बेटी श्वेता बच्चन नंदा के लिए दिल छूने वाला पोस्ट लिखा। अमिताभ ने यह पोस्ट अपनी बेटी श्वेता के पहले उपन्यास ‘पैराडाइज टॉवर्स’ के सबसे ज्यादा बिकने वाले उपन्यासों में शामिल होने पर लिखा है। इस उपलब्धि के लिए श्वेता की सराहना करते हुए अमिताभ ने सोशल मीडिया पर लिखा, “एक बेटी की इस तरह …

Read More »

Jaipur लिटरेचर फेस्टिवल के को-फाउंडर हैं संजय रॉय, जानिए उनकी अनसुनी बातें

साहित्य की दुनिया का सबसे बडा मंच जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल साहित्य की दुनिया में अपनी एक अलग पहचान रखता है लेकिन, इस साहित्य सम्मेलन ने बहुत ही कम वक्त में एक खास जगह बनाई है। जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के को फाउंडर संजय राय ने इसकी शुरुआत 2008 में जयपुर के डिग्गी पैलेस होटल में की थी। आइये आज हम आपको …

Read More »

JLF: सुरक्षा के कड़े इंतेजाम, इन सुरक्षा चक्रों से होकर गुजरना पड़ेगा

जयपुर साहित्य महोत्सव का 12वे संस्करण की शुरुआत हो चुकी है। साहित्य और कला प्रेमियों को यहां जमघट लगना शुरु हो गया है। साहित्य प्रेमियों में काफी उमंग और उत्साह देखा जा रहा है। इस बार सुरक्षा के भी कड़े इंतेजाम देखे जा रहे हैं। किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए ऐहतियात के तौर पर राजस्थान पुलिस ने सुरक्षा …

Read More »

शहरी माओवाद को स्पष्ट करता है उपन्यास “लाल अंधेरा”

शहरी माओवाद शब्द अब चलन में है, इसे केवल अवधारणा कह कर खारिज नहीं किया जा सकता। लेखक राजीव रंजन प्रसाद का उपन्यास – “लाल अंधेरा” बस्तर के आम जन और उनके संघर्षों की कहानी है जिसे पढते हुए साफ होता है कि दिल्ली के नाखून कैसे लोक और लोकजीवन कर धंस रहे हैं। लाल अंधेरा एक उपन्यास है, हालाकि …

Read More »

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में हादसा, पेड़ गिरने से चार लोग घायल

देश के सबसे बड़े साहित्य सम्मेलनों में से एक जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के शुरुआती दिन गुरुवार दोपहर बाद इसके लंच एरिया में लगे एक पेड़ की डाली नीचे आ गिरी, जिससे चार लोग घायल हो गए। आयोजकों ने एक आधिकारिक बयान में कहा, “डिग्गी पैलेस के प्रतिनिधियों वाले क्षेत्र में पेड़ का एक हिस्सा नीचे आ गिरा, जिससे चार लोग …

Read More »

सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण विधेयक एक ऐतिहासिक कदम

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण उपलब्ध कराने के लिए संविधान संशोधन विधेयक गरीबों के उत्थान के लिए एक ऐतिहासिक कदम है जो सबका साथ – सबका विकास के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। महाराष्ट्र के सोलापुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इस विधेयक …

Read More »

उर्दू और फारसी के माहिर शायर मिर्जा गालिब के जीवन के अनसुने किस्से

गालिब, मिर्जा गालिब जैसे नामों से मशहूर मशहूर शायर मिर्जा असद-उल्लाह बेग की आज जयंति है। उनका जन्म 27 दिसंबर, 1796 आगरा, उत्तर प्रदेश में हुआ था। गालिब उर्दू एवं फ़ारसी भाषा के महान शायर थे। गालिब भले ही इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन, इन भाषाओं में धारा प्रवाह बोलने ओर शायरी लिखने का अंदाज उनको आज भी दुनिया …

Read More »

प्रो. मुशीरुल हसन के निधन पर अशोक गहलोत ने जताई संवेदना, बताया अकादमिक दुनिया की क्षति

जाने माने प्रोफेसर ओर इतिहासकार और इस्लामी विद्वान प्रो. मुशीरुल हसन का आज यानि सोमवार को सुबह देहांत हो गया है। उन्होंने 71 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली। उनके निधन पर राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने दुख व्यक्त किया है। एक ट्वीट करते हुए गहलोत ने लिखा, प्रोफेसर मुशिरुल हसन जी …

Read More »

नहीं रहे इतिहासकार प्रो. मुशीरुल हसन, 71 वर्ष की उम्र में ली अंतिम सांस

जाने माने प्रोफेसर ओर इतिहासकार प्रो. मुशीरुल हसन का आज यानि सोमवार को सुबह देहांत हो गया है। उन्होंने 71 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली। प्रो. मुशीरुल हसन जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय के कुलपति और भारतीय राष्ट्रीय अभिलेखागार के महानिदेशक रह चुके थे। उन्होंने भारत के विभाजन और दक्षिण-एशिया में इस्लाम के इतिहास पर बड़े पैमाने पर लिखा। …

Read More »