पिछली जेब में पर्स रखने की आदत आज से ही बदल डालिए, वरना…..

पिछली जेब में पर्स रखना भले ही आपके लिए काफी आरामदायक हो, लेकिन वास्तव में यह आपको बीमार बनाने का काम करता है। अगर आपका नाम भी ऐसे लोगों की लिस्ट में शुमार है जो अपनी पिछली पाँकेट में पर्स रखते हैं तो आपको सतर्क हो जाने की आवश्यकता है। इससे आपके बीमार होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है-

  • दरअसल, कई घंटो तक पर्स को पैंट के पीछे की जेब में रखकर बैठे रहने से पायरी फोर्मिस नाम की मसल्स के साथ साइटिका नाम की नस दबने लगती है जो हमारे कूल्हों से लेकर पैर तक की मूवमेंट तक को प्रभावित करती हैं।
  • इससे व्यक्ति को पैरों में असहनीय दर्द शुरू हो जाता है। इतना ही नहीं, कभी-कभी पैरों में तेज दर्द होने के साथ उसके पैर भी सुन पड़ जाते हैं और उसका चलना फिरना मुश्किल हो जाता है।
  • इसलिए जहां तक हो सके, पिछली जेब में पर्स रखने से बचें और अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो इस तरह घंटों एक ही पोजिशन में न बैठें।