भारत के बाद अब ट्रंप के मध्यस्थता प्रस्ताव को चीन ने भी ठुकराया, कहा-तीसरे पक्ष की नहीं है जरुरत

लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर चल रहे तनाव को मिटाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति के मध्यस्थता प्रस्ताव को भारत के बाद अब चीन ने भी ठुकरा दिया है। शुक्रवार को चीन ने बयान जारी कर कहा कि दोनों देशों के बीच समस्याओं के समाधान के लिए संचार तंत्र मौजूद हैं। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा कि दोनों देशों के बीच तनाव को सुलझाने के लिए वह तीसरे पक्ष का हस्तक्षेप नहीं चाहते हैं। इसके लिए सीमा संबंधी तंत्र और संवाद हैं।

बता दे बुधवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद को सुलझाने के लिए मध्यस्थता की पेशकश की थी। उन्होंने कहा था कि वह दोनों पड़ोसी देशों की सेनाओं के बीच जारी गतिरोध के दौरान तनाव कम करने के लिए तैयार, इच्छुक और सक्षम हैं।; ट्रंप के इस प्रस्ताव को भारत पहले ही ठुकरा चुका है। वही अब चीन ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ट्रंप के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया है।

चीनी प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा कि भारत के साथ सीमा विवाद को हम बातचीत और विचार-विमर्श के जरिए सुलझाने में सक्षम है। इसके लिए हमें किसी तीसरे पक्ष की जरुरत नहीं है। बता दे गुरूवार को भारत ने पूर्वी लद्दाख में सीमा गतिरोध को सुलझाने के लिए चीन के साथ सैन्य और राजनयिक स्तर पर बात जारी होने की बात कही थी। इसके बावजूद सीमा पर दोनों सेनाओं के बीच तनातनी जारी है जो खत्म होती नहीं दिखाई दे रही है।

यह भी पढ़े: रश्मि देसाई ने ‘लैजा लैजा’ गाने पर किया जबरदस्त डांस, विशाल आदित्य सिंह ने खुलेआम किया फ्लर्ट
यह भी पढ़े: फॉक्स क्रिकेट ने चुनी 2025 की बेस्ट टेस्ट प्लेइंग XI, विराट-रोहित को नहीं  दी जगह

Loading...