दक्षिण चीन सागर पर चीन की गुस्ताखी, वियतनाम ने भारत को दी जानकारी

पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना ने चीन के नापाक मंसूबों को सफल होने नहीं दिया है। ऐसे में चीन ने अब दक्षिण चीन सागर में अपना हस्तक्षेप बढ़ाना शुरू कर दिया है। जिसके बाद वियतनाम ने चीन के इस गुस्ताखी भरे कदम की जानकारी भारत को दी है। वियतनाम ने बताया कि चीन दक्षिणी चीन सागर में अपने युद्धपोतों और लड़ाकू विमानों की लगातार बड़ी संख्या में तैनाती कर रहा है। यह गुस्ताखी तब है, जब चीन से कई सारे देश संयम की अपील कर चुके है।

वियतनामी राजदूत फाम सान चाऊ ने शुक्रवार को भारत के विदेश सचिव हर्ष वर्धन शृंगला के साथ बातचीत के दौरान यह मुद्दा उठाया। जिसमें कहा गया कि दक्षिण चीन सागर में चीन उस जगह गुस्ताखी कर रहा है, जहां पर वियतनामी कंपनियों के साथ मिलकर भारतीय सरकारी कंपनी ओएनजीसी तेल की खोज का प्रोजेक्ट चला रही है। हालांकि, आधिकारिक तौर पर विदेश मंत्रालय या वियतनामी दूतावास की तरफ से इस बैठक से जुड़ा कोई व्योरा नहीं दिया गया है।

बता दे चीन समूचे दक्षिण चीन सागर पर अपना अधिकार जमाता रहा है। साथ ही भारत और वियतनाम द्वारा चलाये जा रहे इस साझा प्रोजेक्ट पर भी एतराज जताता रहा है। हाइड्रोकार्बन उत्पादों के लिहाज से खाड़ी देशों के बराबर माना जाने वाला दक्षिण चीन सागर भारत के लिए काफी अहम है। दरअसल, भारतीय व्यापार का 55 फीसदी हिस्सा भी इसी के जरिये इधर से उधर जाता रहा है। इसी वजह से भारत ने चीन और वियतनाम तेल समझौते को ठुकरा दिया था।

यह भी पढ़े: 73 दिनों बाद बाजार में आ जायेगी कोरोना वैक्सीन, भारत में लोगों को फ्री लगेगा टीका
यह भी पढ़े: चीन को बड़ा झटका, शी जिनपिंग को राष्ट्रपति कहने से अमेरिका ने किया इनकार