विवादित सीमा पर चीन बढ़ा रहा भारी सैन्य उपकरण, लड़ाकू वाहन और तोपें भी लगाई

भारत और चीन के बीच लद्दाख और सिक्किम क्षेत्र में सीमा विवाद गहराता जा रहा है। भारत के निर्माण कार्य में अवरोध उत्पन्न करने के लिए चीन लगातार अपनी सेना सीमा पर बढ़ा रहा है। इस वजह से सीमा पर स्तिथि तनावपूर्ण होती जा रही है। सूत्रों के हवाले से प्राप्त जानकारी के मुताबिक 25 दिनों से पूर्वी लद्दाख के विवादित क्षेत्रों में चल रहे विवाद के बीच दोनों देशों की सेनाएं भारी उपकरण और तोप व युद्धक वाहनों समेत हथियार पहुंचाने में लगे है।

विवादित क्षेत्र में दोनों सेनाओं द्वारा युद्ध की क्षमता में बढ़ोतरी की जा रही है। वही दूसरी तरफ सैन्य और राजनयिक स्तर पर दोनों देशों के बीच बातचीत के माध्यम से विवाद का हल निकालने का प्रयास किया जा रहा है। शांति वार्ता से विवाद सुलझाने के प्रयासों के बावजूद चीनी सेना द्वारा पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा के करीब भारी सैन्य उपकरण लगाए जा रहे है। चीन सेना तोपखाने की तोपों और पैदल सेना के लड़ाकू वाहनों का जखीरा तैयार कर रही है।

चीन लगातार इस प्रयास में जुटा है कि भारत विवादित क्षेत्रों में निर्माण कार्य पर रोक लगा दे। वही वह खुद यहां तेजी से सड़क निर्माण समेत कई ढ़ांचाओं के निर्माण में लगा है। लेकिन इस बार भारत अपना चीन के सामने झुकने को तैयार नहीं है। भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सैन्य अधिकारियों को साफ निर्देश दिए है कि वह अपने इलाके में हो रहे निर्माण कार्य को जारी रखे। वही चीन के साथ विवाद हल के लिए सैन्य और कूटनीतिक स्तर पर द्विपक्षीय वार्ता जारी है।

यह भी पढ़े: भारत ने पकड़े पाकिस्तानी उच्चायोग के तीन जासूस, 24 घंटे में देश छोड़ने का मिला आदेश
यह भी पढ़े: बीजेपी नेता ने विराट को दी थी अनुष्का को तलाक देने की सलाह, अब विराट ने दिया ऐसा जवाब