भारतीय सेना को उकसाने के लिए चीन कर रहा चालबाजी, झूठ का ले रहा सहारा

भारतीय जवानों को उकसाने के लिए चीन नए-नए पैंतरे आजमा रहा है। उसकी चालबाजी का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उसने सोमवार रात को पूर्वी लद्दाख में यथास्थिति को न केवल बदलने की कोशिश की बल्कि भारतीय जवानों को उकसाने के लिए हवा में फायरिंग भी की। चीन के इस झूठ पर भारतीय सेना ने मंगलवार को बयान जारी कर कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) आगे बढ़ने के लिए उकसावे वाली गतिविधियां कर रही है।

भारतीय सेना ने दो टूक कहा है कि वह क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहते हैं। इसके लिए हर कीमत पर राष्ट्रीय अखंडता और संप्रभुता की रक्षा के लिए भी दृढ़ हैं। सेना ने कहा कि चीन घरेलू और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहा है। साथ ही आगे बढ़ने के लिए उत्तेजक गतिविधियां कर रहा है। सेना ने कहा कि भारत की तरफ से एलएसी पार नहीं की गई और न ही किसी भी आक्रामक साधन का सहारा लिया जिसमें गोलीबारी भी शामिल है।

सेना ने कहा दोनों देशों के बीच सैन्य, राजनयिक और राजनीतिक स्तर पर सेना को पीछे हटाने के लिए बातचीत जारी है। लेकिन पीएलए समझौतों का घोर उल्लंघन कर रहा है और आक्रामक युद्धाभ्यास भी कर रहा है। इसके बाबजूद हमारे सैनिक संयम, परिपक्वता और जिम्मेदारी दिखा रहे है।

यह भी पढ़े: कंगना को हरामखोर कहने वाले सांसद संजय राउत बने शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता
यह भी पढ़े: दो दिन बाद भारत में कोरोना के मामलों में बड़ी गिरावट, 24 घंटे में 1133 मौतें