अपनी सैन्य शक्ति मजबूत करने में जुटा चीन, रक्षा कानून में किया बड़ा संसोधन

चीन लगातार आप सैन्य शक्तियों में विस्तार करने में लगा हुआ हैं। अपने इन्हीं प्रयासों के बीच चीन ने 1 जनवरी से अपने राष्ट्रीय रक्षा कानून में संशोधन किया है। यह संसोधन देश और विदेश में ‘राष्ट्रीय हित’ की रक्षा में सैन्य और नागरिक संसाधनों को जुटाने के लिए किया गया है। नए संसोधन सैन्य नीति तैयार करने में राज्य परिषद की भूमिका को कमजोर करेंगे। साथ ही केंद्रीय सैन्य आयोग (CMC) को निर्णय लेने की शक्ति प्रदान करेंगे।

एक रिपोर्ट के अनुसार चीन द्वारा सशस्त्र बलों को जुटाने और तैनात करने के आधार के रूप में पहली बार ‘विकास हितों’ और ‘विकास हितों की सुरक्षा’ को कानून में जोड़ा गया है। बता दे इस संसोधन एक लिए पूरे दो साल विचार-विमर्श किया गया और नेशनल पीपुल्स कांग्रेस द्वारा 26 दिसंबर को यह पारित हुआ।

संशोधन के तहत तीन आर्टिकल हटा दिए गए जबकि छह जोड़े गए और 50 से अधिक संशोधन किए गए। यह कानून विशेष रूप से पारंपरिक हथियारों को कवर करने वाली नई रक्षा प्रौद्योगिकियों और प्राइवेट एंटरप्राइज को मोबलाइज के लिए एक राष्ट्रव्यापी समन्वय तंत्र के निर्माण की आवश्यकता पर केंद्रित है।

यह भी पढ़े: कोवैक्सीन की मंजूरी पर शशि थरूर ने उठाए सवाल, कहा-हो सकती हैं खतरनाक
यह भी पढ़े: खुलकर हंसे, नहीं होगी कोई बीमारीयाँ