दोनों देशों के बीच बनी आम सहमति, सीमा पर स्थिति को बनाया जा रहा है सामान्य: चीन

लद्दाख में भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के खत्म होने की उम्मीद दिखने लगी है। चीन ने बुधवार को सैनिकों के पीछे हटने का ब्योरा देने से इनकार कर दिया। लेकिन यह जरूर बताया था कि दोनों देशों के राजनयिक और सैन्य अधिकारियों बातचीत के जरिए इस तनाव को खत्म करने में जुटे हुए है। वही मंगलवार को चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बयान दिया था कि दोनों देशों के सैनिक तीन जगहों पर कुछ-कुछ पीछे हट गए है।

हुआ चुनयिंग ने बताया कि लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चल रहे तनाव को खत्म करने के लिए दोनों देश कदम उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच सीमा स्तिथि को लेकर राजनयिक और सैन्य तौर पर प्रभावी बातचीत हुई है। जिसके बाद दोनों देश सकारात्मक सहमति के आधार पर सीमा तनाव को हल कर रहे है। बता दे पिछले हफ्ते चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि सीमा स्तिथि स्थिर और नियंत्रण योग्य है।

नई दिल्ली के सूत्रों के मुताबिक भारत और चीन दोनों देशों के सैनिक पीछे हटने लगे है। जानकरी के मुताबिक गलवान घाटी के पेट्रोलिंग पॉइंट 14, 15 और हॉट स्प्रिंग एरिया में एक अन्य स्थान से चीन के सैनिक 1.5 किलोमीटर पीछे हट गए हैं।

यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सेना ने ढ़ेर किये पांच आतंकवादी, दो सप्ताह के अंदर 25 आतंकी मार गिराए
यह भी पढ़े: माइकल वॉन ने चुनी गंजे खिलाड़ियों की प्लेइंग XI, इंग्लैंड के ब्रायन क्लोज को चुना कप्तान