मुसलमानों से धार्मिक आजादी छीन रहा चीन, 16 हजार मस्जिदों को ढहाया

मानवाधिकारों और नागरिकों की धार्मिक आजादी को लेकर चीन का घिनौना चेहरा एक बार फिर खुलकर सामने आया है। एक ऑस्ट्रेलियन थिंक टैंक ने शुक्रवार को एक रिपोर्ट जारी की। जिसमें चीनी सरकार द्वारा शिनजियांग प्रांत में 16 हजार से ज्यादा मस्जिदों को जमींदोज कर देने की बात कही गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि उत्तरी-पश्चिमी प्रांत में 10 लाख से अधिक उइगर और दूसरे मुसलमानों को कैंप में कैद करके रखा गया है।

यही नहीं चीन द्वारा शिनजियांग प्रांत में लोगों पर परंपरागत और धार्मिक गतिविधियों को छोड़ने का दबाव बनाया जा रहा है। ऑस्ट्रेलियन स्ट्रैटिजिक पॉलिसी इंस्टीट्यूट (ASPI) ने भी करीब 16 हजार मस्जिदों को ढहाने या नुकसान पहुंचाने की बात कही है। यह रिपोर्ट सैटेलाइट इमेज और स्टैटिकल मॉडलिंग पर बेस्ड है। रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि अधिकतर मस्जिद पिछले तीन सालों में क्षतिग्रस्त की गई है। जिनमें से करीब 8,500 मस्जिद पूरी बर्बाद है।

रिपोर्ट के मुताबिक अधिकतर नुकसान उरुमकी और काशगर के बाहरी इलाकों में पहुंचाया गया है। ऐसी कई मस्जिदें है जिन्हें पूरी तरहज ध्वस्त नहीं करके सिर्फ उनके गुंबदों और मीनारों को गिरा दिया गया। बताया जा रहा है कि शिनजियांग में क्षतिग्रस्त सहित करीब 15,500 मस्जिद अभी भी बची हुई है।

यह भी पढ़े: Amazon ने लॉन्च किए नई जेनरेशन के Fire TV Sticks, जानें कीमत और फीचर्स
यह भी पढ़े: 74 वर्षीय पार्श्व गायक एसपी बालासुब्रमण्यम का निधन, कोरोना संक्रमण ने ली जान