इंडीग्रेडिएंट्स से समृद्ध अपनी त्वचा के लिए चुनें सही क्रीम

रात का समय त्वचा को आराम, सुकून देने और इसे ‘रिजूविनेट’ करने का समय होता है, इसलिए चेहरे को गहराई से साफ करने के बाद रात में बढ़िया परिणाम के लिए लगाई जाने वाली मॉइश्चराइजर लगाएं। आप हालांकि इस उलझन में पड़ सकती हैं कि कौन सा मॉइश्चराइजर आपकी त्वचा के लिए बढ़िया साबित होगा।

स्किनकेयर ब्रांड एपिक्यू की संह-संस्थापक दिव्या मेहता ने बढ़िया नाइट क्रीम चुनने के संबध में कई सुझाव दिये हैं इसके मुताबिक किसी भी सनस्क्रीन इंडीग्रिएंट्स से रहित क्रीम का इस्तेमाल कर सकती हैं। आपको खास तौर से नाइट क्रीम खरीदने की जरूरत नहीं है, क्योंकि फर्क बस इतना है कि नाइट क्रीम हानिकारक यूवी किरणों से सुरक्षा प्रदान करने वाला एसपीएफ से युक्त नहीं होता है, इसलिए आप बेहिचक बढ़िया इंडीग्रेडिएंट्स से समृद्ध अपनी त्वचा के लिए उपयुक्त क्रीम चुनें।

सवेलिया सेराटा (शल्लकी), कॉफी बीन के सत्व से युक्त, ब्राह्मी, कालमेघ, यष्टिमधु, पत्थरचूर, हार्स चेस्टनट जैसे औषधीय पौधों के सत्व और तेलों व विटामिन ई, सी और अन्य एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर नाइट क्रीम लगाएं। अगर आपकी उम्र ज्यादा है तो उच्च मात्रा वाले औषधीय गुणों से युक्त क्रीम लगाएं।

क्रीम ऐसी होनी चाहिए जो त्वचा में गहराई से समा जाए। ऐसी क्रीम न लगाएं जो त्वचा पर तैलीय रूप में साफ नजर आए और सही से अवशोषित न हो सके। त्वचा के प्रकार जैसे तैलीय, रूखी या सामान्य के अनुसार ही क्रीम चुनें। त्वचा को सूट करने वाली बढ़िया मॉइश्चराइजर लगाएं।

सिंथेटकि खूशबू या रंगों वाली क्रीम न लगाएं क्योंकि इससे आपकी त्वचा में खुजली और जलन हो सकती है। अच्छी नाइट क्रीम में पैराबेंस आदि केमिकल नहीं होना चाहिए। अगर आपकी त्वचा संवेदनशील है तो अल्कोहल युक्त क्रीम न लगाएं, क्योंकि इससे एक्जीमा, रूखापन जैसी समस्या हो सकती है। नाइट क्रीम त्वचा को पोषण देने और त्वचा की कोशिकाओं को रिपेयर करने के लिए इस्तेमाल में लाए जाते हैं, इसलिए इसे सनस्क्रीन और एसपीएफ रहित होना चाहिए।