मांसपेशियों के लिए बहुत नुकसानदायक होता है सिगरेट का धुआं

हम सभी जानते है की सिगरेट का धुआं सीधे हमारे शरीर में मांसपेशियों के लिए सबसे हानिकारक होता है और सिगरेट का धुआँ हमारे शरीर की मसल्स को अत्यधिक कमजोर कर देता है। इस अध्यन से यह पता चलता है कि धूम्रपान छोटे रक्त वाहिकाओं की संख्या को पूर्ण्तः कम करता है जो पैरों के मांसपेशियों में ऑक्सीजन और पोषक तत्व लाते हैं।

हम सभी जानते हैं कि धूम्रपान करने से व्यक्ति की व्यायाम करने की क्षमता घट जाती है। क्योंकि इससे मासपेशिया अत्यधिक कमजोर बन जाती है। यह व्यापक रूप मांसपेशियों की कमजोरी इसलिए है क्योंकि इससे फेफड़ों में अत्यधिक सूजन आ जाती हैं और अंततः धूम्रपान से पूर्ण्तः नष्ट हो जाते हैं, इसलिए गतिविधि और व्यायाम सीमित हो जाते हैं। मुख्य जांचकर्ता ने कहा, “यह बेहद जरूरी है कि हम लोगों को यह दिखाएं कि तंबाकू सिगरेट के उपयोग से पूरे शरीर में अत्यधिक हानिकारक परिणाम होते हैं।

हालांकि एक ताज़ा अध्ययन के निष्कर्ष से यह पता चलता हैं कि सिगरेट का धुआं पैर की मांसपेशियों में रक्त वाहिकाओं की संख्या को कम करके मांसपेशियों को बहुत अधिक नुकसान पहुंचाता है, जिससे वे ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की मात्रा को बहुत कम कर सकते हैं। यह चयापचय और गतिविधि के स्तर को भी प्रभावित कर सकता है, जिनमें से दोनों क्रोनिक अवरोधक फुफ्फुसीय बीमारी और मधुमेह सहित कई पुरानी बीमारियों का जोखिम कारक हैं।