Breaking News
Home / राजस्थान / CII: कौशल विकास के लिए एक हों सरकारी व निजी क्षेत्र- सुभाष गर्ग

CII: कौशल विकास के लिए एक हों सरकारी व निजी क्षेत्र- सुभाष गर्ग

सीआईआई और आरएसएलडीसी के संयुक्त तत्वाधान में प्रतिष्ठित “स्किल्स एंड एचआर कॉनक्लेव“ के 12वें एडिशन का आयोजन जयपुर के एक होटल में किया गया। “एम्प्लॉइमेन्ट एंड एम्प्लॉएबिलिटी ऑफ ग्रोथ” विषय पर आधारित यह एकदिवसीय कॉनक्लेव एचआर डिपार्टमेंन्ट्स में एचआर एंड स्किल्स परिप्रेक्ष्य के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय बाजार के साथ तालमेल रखने तथा आवश्यक और उपलब्ध टेलेंट पूल के बीच की खाई को कम करने के उद्देश्य से रखी गई थी। इस दौरान “स्किलिंग फॉर एम्प्लॉयबिलिटी एंड ग्रोथ” तथा ’’एचआर द ग्रोथ इंजन’’ पर सैशन आयोजित किये गये।

राजस्थान सरकार के तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बताया कि, स्किल एनालेसिस रिपोर्ट से पता चलता है कि वर्ष 2022 तक हमें लगभग 109 मिलियन कुशल श्रमिकों की आवश्यकता होगी। हमारे पास जनसंख्या तो है लेकिन कुशल श्रमिक संसाधन का अभाव है। हम इस संबंध में कई चुनौतियों का सामना कर रहे है उदाहरण स्वरूप हमारे पाठ्यक्रमों में नवीनता का अभाव है साथ ही इनमें व्यवाहारिक प्रशिक्षण आदि पर जोर नहीं दिया जाता है।

Loading...

एम्प्लॉइमेन्ट एंड एम्प्लॉएबिलिटी ऑफ ग्रोथ” विषय पर विचार व्यक्त करते हुये सीआईआई राजस्थान के चैयरमेन अनिल साबू ने बताया कि भारत में विश्व की सर्वाधिक कुशल जनसंख्या निवास करती है, इसके बावजूद भारत और विकसित देशों के बीच की खाई कम होने की बजाय बढ़ती जा रही है। उन्होंने कौशल विकास को भारत निर्माण में आवश्यक तत्व बताते हुये कहा कि आने वाले दशकों में देश को 300 से 500 मिलियन रोजगार लायक कुशल युवाओं की आवश्यकता होगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *