दालचीनी और बेल की पत्तियां भी डायबिटीज पर रखेगी नियंत्रण

डायबिटीज अब एक आम बीमारी हो चुकी है। अगर आप इस रोग से पीड़ित हैं तो चिंतित बिल्कुल न हों बल्कि इसे दूर करने का प्रयास करें। डायबिटीज के साथ भी बेहतर और अच्छी लाइफ जी जा सकती है। इसलिए यह ध्यान रखें की डायबिटीज में शुगर को कंट्रोल में रखना ही इसका इलाज है। साथ ही अगर आप कुछ आयुर्वेदिक इलाज भी करें तो बहुत बेहतर होगा। ये ऐसे उपाय हैं जो हर घर के किचन में होते हैं। बस उसे रोजमार्रा की जिंदगी में शामिल करना होगा।

कलौंजी और मेथी डायबिटीज में बहुत कारगर हैं। इन दोनों को एक चम्मच बराबर मात्रा में ले कर रात को एक गिलास पानी में भिगा दें और सुबह पानी पी कर इसे चबा कर खा लें। ये बहुत ही फायदेमंद होगा।

-दालचीनी का पाउडर भी आप ले सकते हैं। इसे रोज एक महीने एक चम्मच गुनगुने पानी के साथ लें।
-दो बेल का पत्ता, चार या पांच काली मिर्च,दो से तीन तुलसी और चार पत्ते नीम के पत्ते को एक साथ पीस लें और इसे काढ़े की तरह रोज सुबह खाली पेट पिएं।
-जामुन के बीज का पाउडर भी सुबह-शाम फांकना बहुत बेहतर होगा।
-अलसी के बीज को पीस लें और उसका चूर्ण गुनगुने पानी के साथ लें। ये रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने बहुत कारगर है।

-करेला का प्रयोग किसी भी रूप में करें। इसका रस पीएं या सब्जी बनाएं। लेकिन इसका प्रयोग लगभग रोज ही करें।

-अमरुद और विटामिन सी से भरे फल खाएं।