फैटी लिवर को कम करने में मददगार है कॉफी, इन चीजों को खाने से भी होगा फायदा

Close up white coffee cup with heart shape latte art on wood table at cafe.

हालिया आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में 25 प्रतिशत लोग फैटी लिवर की परेशानी से जूझ रहे हैं। इस बीमारी में लिवर की कोशिकाओं में अधिक मात्रा में फैट जमा हो जाता है। यह बीमारी लोगों को तब घेरती है जब उनके लिवर में फैट (वसा) की मात्रा लिवर के भार से 10 प्रतिशत अधिक हो जाती है। ये बीमारी होने पर लिवर में सूजन हो जाती है या फिर वो संकुचित यानि कि सिकुड़ जाता है। ज्यादातर मामलों में फैटी लिवर डायबिटीज, हाई कोलेस्ट्रॉल और मोटापा से पीड़ित लोगों को ही होता है। लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि अगर आप शरीर से पतले हैं तो आप इस बीमारी की चपेट में नहीं आएंगे, इसलिए सतर्क रहना बहुत जरूरी है। ऐसे में कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल करके लोग खुद को स्वस्थ रख सकते हैं-

कॉफी: फैटी लिवर से परेशान लोगों को सीमित मात्रा में कॉफी का सेवन बहुत फायदा पहुंचा सकता है। कॉफी में पॉलीफेनोल, क्लोरोजेनिक एसिड, कैफीन, मेथिलक्सैन्थिन जैसे तत्व मौजूद होते हैं। इसके अलावा, कार्बोहाइड्रेट, लिपिड, नाइट्रोजन यौगिक, निकोटिनिक एसिड, पोटैशियम और मैग्नीशियम भी कॉफी में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। ये सभी तत्व शरीर को डायबिटीज और मोटापे की परेशानी को दूर करता है जिससे फैटी लिवर होने का खतरा बहुत हद तक कम हो जाता है।

दलिया: दलिया में बीटा-ग्लूटेन की मात्रा अधिक होती है, ये तत्व डाइजेशन प्रोसेस को ज्यादा मजबूत बनाता है। पाचन क्रिया के स्ट्रॉन्ग होने पर मोटापा कम होता है। मोटापा को फैटी लिवर होने के महत्वपूर्ण कारकों में से एक माना जाता है। ऐसे में दलिया को अपनी डाइट में शामिल करने से मोटापा और फैटी लिवर दोनों से ही लोगों को छुटकारा मिलेगा।

अखरोट: अखरोट में ओमेगा-6, ओमेगा-3 और एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। ये लिवर को किसी भी तरह के संक्रमण से बचाने में मदद करते हैं। इसके साथ ही अखरोट में कैलोरीज भी बहुत कम होती हैं जिससे ये फैटी लिवर के मरीजों के लिए उपयुक्त है। इस बीमारी से पीड़ित लोगों को अपने डाइट में कम कैलोरी वाले आहारों को शामिल करना चाहिए ताकि शरीर में एक्स्ट्रा फैट न जमा हो पाए।

ग्रीन टी: ग्रीन टी इस बीमारी से लड़ने में बेहद फायदेमंद होता है। ग्रीन टी में मौजूद तत्व अत्याधिक फैट और वसा वाले टिश्यूज को नष्ट करने में प्रभावी होते हैं। इसके अलावा, करेला भी इसे काबू में रखने में कारगर है। वहीं, एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरा नींबू भी फैटी लिवर की समस्या में आराम पहुंचाता है। संतरा, पपीता, अनानास और जामुन जैसे फल भी फैटी लिवर को कम करने में सक्षम है।

यह भी पढ़े-

स्पेशल प्रोजेक्ट के लिए बनेगी जान्हवी कपूर और बोनी कपूर की जोड़ी, बाप बेटी को मिला यह बड़ा ऑफर