ब्लड डोनेशन करने के लिए आगे आएं, नहीं होता कोई नुकसान

ब्लड डोनेशन यानि रक्तदान को हमेशा पुण्य का काम माना जाता है। रक्तदान से सामाजिक ओर शारीरिक स्तर पर हमेशा फायदा ही होता है। रक्तदान को लेकर काफी भ्रांतियां फैली हुई हैं। लोगों में ऐसी भ्रांतिया फैली हैं जिसमें वह सोचते हैं कि रक्तदान से कमजोरी आती है और इससे कई बीमारियां फैलती हैं। लेकिन, रक्तदान करने से कई फायदे होते हैं..

रक्तदान करने से दिल का स्वास्थ्य काफी अच्छा रहता है

मोटे होने की संभावना काफी कम हो जाती है।

इससे आपका रक्त संचार सही प्रवाह से होता है।

आपका रक्त किसी जरूरतमंद के काम आता है और इससे किसी की जान भी बचाई जा सकती है।

रक्तदान काफी पुण्य का काम माना जाता है।

रक्त का दान करने से धमनियों को नुकसान कम पहुंचता है। इससे खून के जमने का खतरा भी कम हो जाता है।

मेडिकल के मुताबिक ब्लड डोनर को हार्ट अटैक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

मेडिकल के मुताबिक तनाव, अवसाद, अटैक और कैंसर जैसी बीमारियों से ब्लड डोनर को छुटकारा मिल जाता है।

ब्लड डोनेट करने के बाद मात्र एक कॉफी पीने से आपके शरीर में फिर से खून बनने लग जाता है। आयरन और हीमोग्लोबिन बनने से आपके ब्लड के संचार में फिर से तेजी आ जाती है।
चिकित्सक की सलाह से हैल्दी फूड लेने से खून जल्दी बन जाता है।

इसलिए रक्तदान से घबराना नहीं चाहिए। ज्यादा से ज्यादा रक्तदान कर लोगों की जिंदगी बचाना चाहिए। यह एक पुण्य मार्ग है। जिसे जीवन में एक बार जरूर अपनाना चाहिए।

शरीर की पूरी चिकित्सीय जांच के बाद ही रक्तदान की इजाजत दी जाती है।

किसी अन्य बीमारी के चलते रक्त दान नहीं करवाया जाता है।

इसलिए बिना के घबराहट के रक्तदान कीजिए क्योंकि यह एक पुण्य का काम होता है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है।