युवराज सिंह पर जातिसूचक शब्द इस्तेमाल करने के आरोप में शिकायत दर्ज, की गई गिरफ्तारी की मांग

पूर्व ऑलराउंडर युवराज सिंह पर जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करने पर शिकायत दर्ज हुई है। दरअसल, कुछ दिनों पहले युवराज सिंह और रोहित शर्मा के बीच इंस्टाग्राम लाइव चैट सेशन हुआ था। जिसमें दोनों के बीच युजवेंद्र चहल को लेकर बातचीत हो रही थी, तभी युवराज ने जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया था। इस बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था, जिसमें युवराज को जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए देखा जा सकता था।

उन्होंने कहा था, ‘ये (जातिसूचक शब्द) लोगों कोई काम नहीं है क्या युजी को.. युजी को देखा कैसा वीडियो डाला है।’ बता दे हिसार के हांसी में दलित अधिकार कार्यकर्ता और एडवोकेट रजत कलसन ने युवराज सिंह के खिलाफ यह शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने पुलिस से युवराज की गिरफ्तारी की मांग की है। दरअसल सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स ने युवी की बातचीत का वीडियो बना वायरल किया था और साथ ही हैशटैग चलाया #युवराज_सिंह_माफी_मांगो।

हैशटैग टि्वटर पर दो दिन तक ट्रेंड होता रहा था। हांसी के पुलिस अधीक्षक लोकेंद्र सिंह के मुताबिक युवी के खिलाफ शिकायत 2 मई को मिली थी। जिसके बाद पूरे मामले की जांच की जा रही है लेकिन अभी तक न तो कोई एफआईआर दर्ज की गई है और न ही कुछ फैसला लिया गया है। वही दूसरी तरफ कलसन ने बताया कि डीएसपी लेवल ऑफिसर ने उनका बयान सेक्शन 161 के अंतर्गत बुधवार को दर्ज किया है। जांचकर्ताओं ने विवादित डीवीडी को देखा।

यह भी पढ़े: जियो में अबू धाबी की मुबाडाला इन्वेस्टमेंट कंपनी करेगी 9093 करोड़ रुपये का निवेश
यह भी पढ़े: कर्नाटक और झारखंड में महसूस हुए भूकंप के झटके, एक्सपर्ट्स बोले, कोई बड़ा खतरा नहीं