बैंक चेकबुक से मुर्दाघर तक पर GST का कन्फ्यूजन, वित्त मंत्री ने सदन को यूं समझाया

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने जीएसटी को लेकर चल रहे कन्फ्यूजन पर राज्यसभा में विस्तार से जानकारी दी है। वित्त मंत्री ने उन वस्तुओं के बारे में विस्तार से बताया है जिन पर जीएसटी लगाया जा रहा है। वित्त मंत्री के मुताबिक, प्रिंटर से चेक बुक खरीदने वाले बैंकों पर ही जीएसटी टैक्स लगता है। ग्राहकों के चेक और बैंकों से नकद निकासी पर जीएसटी है।

इसके अलावा, खुले खाद्य पदार्थों पर कोई जीएसटी नहीं है। निर्मला सीतारमण ने बताया कि 5% टैक्स केवल पहले से पैक और लेबल वाली वस्तुओं पर है। वित्त मंत्री के मुताबिक जीएसटी परिषद के सभी राज्य पहले से पैक, लेबल वाले खाद्य पदार्थों पर 5% जीएसटी लगाने के प्रस्ताव पर सहमत हुए, एक व्यक्ति ने इसके खिलाफ नहीं बोला।

श्मशान या मुर्दाघर पर: उन्होंने यह भी दोहराया कि श्मशान या मुर्दाघर पर कोई जीएसटी नहीं है। हालांकि, अगर कोई नया श्मशान खोलना चाहता है तो जीएसटी लगाया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने जीएसटी से पहले और जीएसटी के बाद के टैक्स की तुलना की और दावा किया कि उनकी सरकार ने कई वस्तुओं पर उपकर कम किया है, जिससे जनता अनजान है।

महंगाई पर क्या बोलीं: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने महंगाई पर भी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार धरातल पर काम कर रही है और हर चीजों को मॉनिटर कर रहे हैं। अब भी देश में महंगाई, वैश्विक स्तर के मुकाबले काफी कम है।

यह पढ़े: इंडिगो-गो फर्स्ट के मुकाबले 10% सस्ता मिल रहा अकासा एयरलाइन का टिकट, जानें डिटेल