आचार्य प्रमोद कृष्ण के बयान से कांग्रेस ने खुद को किया अलग

कांग्रेस ने अपने वरिष्ठ नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन की महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के इस्तीफे की मांग को लेकर दिए गए बयान से खुद को अलग कर दिया है और कहा है कि यह पार्टी का नहीं बल्कि उनका निजी विचार हो सकता है।

 

 

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट कर कहा, “ना तो यह कांग्रेस पार्टी के विचार हैं, ना ही आचार्य प्रमोद कृष्णन कांग्रेस के अधिकृत प्रवक्ता हैं।”

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में चल रही राजनीतिक उथल-पुथल के बीच आचार्य प्रमोद कृष्णन ने कहा है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को नैतिकता के आधार पर पद छोड़ कर बाला साहब ठाकरे की विरासत का सम्मान करना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया ‘सत्ता को ठोकर मारने वाले स्वर्गीय बाला साहब ठाकरे की विरासत का सम्मान करते हुए उद्धव ठाकरे जी को मराठा गौरव की रक्षा करने हेतु नैतिक मूल्यों का निर्वाहन करते हुए मुख्यमंत्री के पद को त्यागने में एक पल का विलंब भी नहीं करना चाहिए।”