कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह ने की पूर्व मुख्यमंत्री की जमकर तारीफ, बोले-भरोसा नहीं था कि इतना मेहनत करेंगे

मध्यप्रदेश से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने छिंदवाड़ा में पत्रकारों से कहा कि जब कमलनाथ को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर मध्य प्रदेश भेजा गया तो उन्हें इसकी उम्मीद नहीं थी कि वे इतनी मेहनत कर लेंगे। सांसद दिग्विजय सिंह ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की जमकर तारीफ की। दिग्विजय सिंह ने कहा कि कमलनाथ इतनी मेहनत करेंगे, उन्हें नहीं पता था। काम करते-करते उनकी तबीयत तक खराब हो जाती है, इसके बाद भी लोगों से मिलते हैं, उनकी समस्याएं सुनते और उसका निराकरण करते हैं। सांसद अपनी पत्नी अमृता के साथ एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने के सिलसिले मे छिंदवाड़ा आए हैं। कांग्रेस सांसद ने कहा कि जिस तरह से कमलनाथ मेहनत कर रहे हैं, उस हिसाब से कांग्रेस पुनः सरकार बनाएगी।

मुख्यमंत्री रहते हुए भी उन्होंने जमकर काम किया। अब जब मुख्यमंत्री नहीं हैं तब भी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के नाते भी जरूरत से ज्यादा मेहनत कर रहे हैं। प्रदेश में 27 सीटों पर होने वाले उपचुनाव पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि जिन गद्दारों ने मिलकर हमारी सरकार गिराई, उपचुनाव में जनता उनको सबक सिखाएगी। दिग्विजय सिंह ने प्रदेश में एक बार फिर से कांग्रेस की सरकार बनने का दावा किया। उन्होंने कहा कि कुछ गद्दारों ने दगा देकर कांग्रेस की सरकार गिराई है, जनता उनको सबक सिखाएगी और फिर से एक बार प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी। विरोधियों के हौसले इस होने वाले उपचुनाव के रिज़ल्ट देखकर पस्त हो जाएंगे।

निजी दौरे पर आए राज्यसभा सांसद ने शिवराज सरकार पर भी जमकर खिंचाई की। मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए सांसद सिंह ने कहा कि कमलनाथ सीएम थे तो प्रदेश में उद्योगपति इन्वेस्टमेंट करने का मन बना रहे थे, लेकिन अब शिवराज सरकार पर किसी को भरोसा नहीं है। इसलिए कोई भी उद्योगपति यहाँ आने से अब कतरा रहे है। दिग्गी राजा ने कहा कि शिवराज सरकार निजी दुकानदारों से खाद बिकवा रही है, जबकि खाद सप्लाई का काम मेरी सरकार में सहकारी समितियों से होता था। इससे कालाबाजारी नहीं होती थी। दिग्विजय सिंह ने कहा कि निजी दुकानदारों की वजह से खाद की कालाबाजारी बढ़ रही है। उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि सरकार को फिर से सहकारी समितियों से खाद बिकवानी चाहिए, जिससे कालाबाजारी पर अंकुश लग सके।

बताते चले की बीते रोज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने दो अहम घोषणा करते हुए सरकारी नौकरियों में स्थानीय लोगों की 100 फीसदी आरक्षण के साथ बिना लाइसेंसधारी से लोन लेने वालों का लोन पूरा माफ करने की घोषणा की थी।