ज्यादा पनीर का सेवन सेहत के लिए हैं हानिकारक, जानिए कैसे!

इस दुनिया में जितनी तरह के पकवान मौजूद हैं और उतने ही तरह के लोग किसी को कुछ पसंद हैं तो किसी को कुछ।  इसमें से एक डिश हैं पनीर हम कहीं भी जाते है तो पनीर देखते ही उसे खाने के लिए लपक पडते हैं ये भी नहीं सोचते हैं ये हमें नुकसान करेगा या नहीं अगर आप भी ऐसे ही लोगों में शामिल हो जो पनीर खाने के बहुत शोकिन हैं तो ये खबर हैं आपके लिए पनीर के सेवन से संबंधित एक रिसर्च में बताया गया हैं कि पनीर में सेचुरेटेड फैटी एसिड बहुत ज्यादा होता हैं और पनीर के बहुत ज्यादा सेवन से दिल के रोगों की आशंका बहुत ज्यादा बढ़ सकती हैं यही नहीं दूध, मक्खन, मांस और चॉकलेट्स आदि का भी जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल बहुत खतरनाक हो सकता है।

ये भी सेचुरेटेड फैटी एसिड के प्रमुख स्रोत हैं एक सीमा तक इनका इस्तेमाल विल्कुल सही हैं लेकिन इनका जरूरत से ज्यादा सेवन आपको दिल का रोगी भी बना सकता हैं रिसर्च में बताया गया है कि इन चीजों की जगह आपको अनाज, कार्बोहाइड्रेट या प्रोटीन आदि का सेवन अवश्य करना चाहिए।

हॉर्वर्ड टीएचचान स्कूल ऑव पब्लिक हैल्थ में डॉक्टरेट के स्टूडेंट ने बताया कि बैलेंस्ड डाइट की सिफारिशों में सेचरेटेड फैट को अनसैचुरेटेड फैट या खड़े अनाज से बदले जाने की बात अवश्य होनी चाहिए। यह हार्टया नर्व से संबंधित रोगों को रोकने के तौर पर बहुत ही प्रभावी कदम होगा।

सैचुरेटेड फैट:

कोई भी फैट जो रूम टेंपरेचर (सामान्य तापमान पर) भी जमा रहता हैं उसे सेचुरेटेड फैट कहा जाता हैं जबकि अनसेचुरेटेड फैट सामान्य तापमान पर भी द्रव्य रूप में तरल बना रहता है।

सैचुरेटेड फैट के बारे में जाने:

कोई भी फैट, जो कमरे के तापमान पर भी जमा रहता हैं वह सैचुरेटेड फैट होता हैं और संतुलित मात्रा मे इसका इस्तेमाल किया जाए तो हार्ट के लिए अच्छा होता हैं स्वस्थ जीवन के लिए हम जितनी कैलरी लेते हैं उसका 25-35 फीसदी या उससे कम हिस्सा ही फैट का होना चाहिए। सैचुरेटेड फैट कुल कैलोरी का 7 फीसदी से कम होना चाहिए।

सेहतमंद रहने के लिए अपनाये ये आसान टिप्स