आपके स्वास्थ्य के लिए दूषित हवा होता है नुकशानदेय

ज्यादा वायु प्रदूषण में बहुत देर तक रहने से दिल के रोगों का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। यह एचडीएल के स्तर में कमी आने की वजह से ही होता है। एचडीएल को अच्छे कोलेस्ट्रॉल के रूप में भी जाना जाता है। उच्च वायु प्रदूषण वाले क्षेत्रों में एचडीएल के बहुत कम स्तर को देखा गया। इसे व्यक्तियों में दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

पुरुष और महिलाओं में वायु प्रदूषकों का असर अलग होता है। उच्च प्रदूषण वाले क्षेत्र में दोनों के लिए (पुरुष व महिला) एचडीएल का स्तर कम रहा, लेकिन इसका असर महिलाओं में ज्यादा रहा।

यह भी पढ़ें-

सर्दियों के मौसम में करें मूंगफली का सेवन, सेहत के लिए होगा लाभदायक