हाई बीपी को इस तरह करें नियंत्रित

आजकल की व्यस्त और तनाव भरी जीवनशैली की वजह से सेहत की तरफ ध्यान दे पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। इस कारण शरीर में हाई ब्लड प्रैशर की गंभीर समस्या होने लगती है। मसालेदार चीजों का सेवन,शराब, सिगरेट के कारण, भोजन में अत्यधिक नमक का सेवन, जंक फूड खाना, व्यायाम न करना, मोटापा के कारण, किडनी या डायबिटीज रोग और गलत खान-पान के कराण हाई ब्लड प्रैशर की समस्या बहुत बढ़ जाती है। हाई ब्लड प्रैशर की समस्या होने पर सिरदर्द और तनाव, सीने में दर्द या भारीपन, सांस लेने में अत्यधिक तकलीफ, अचानक घबराहट, समझने या बोलने में कठिनाई, चहरे, बाजू या पैरो में सुन्नपन या झुनझुनी, कमजोरी महसूस होना और धुंधला दिखाई देना लगता है। अगर आपको भी हाई ब्लड प्रैशर की गंभीर समस्या है तो इन आसान तरीकों से राहत पा सकते हैं।

1. तेज गति से चलना
हाई बीपी को नियंत्रित करने के लिए तेज गति से चलना शुरू करें। तेज गति से चलने पर फिटनेस में सुधार होता है। प्रतिदिन कम से कम आधा घंटा चलने से दिल को ऑक्सीजन ठीक ढंग से मिलती है।

2. गहरी सांस लें
प्रतिदिन सुबह 10 मिनट प्राणायाम योग करें। मगर ध्यान रहें की जब आप गहरी सांस लें रहे हो तो पेट फूलना चाहिए। सांस छोड़ते समय पेट अंदर होना चाहिए। इस तरह करने से भी हाई बीपी की गंभीर समस्या कम होगी।

3. आलू खाएं
आलू खाने से भी हाई बीपी की समस्या को बहुत कम किया जा सकता है। आलू खाने से शरीर को प्रतिदिन 2 हजार से 4 हजार मिलीग्राम पोटेशियम मिलता है जो शरीर को उच्च रक्त चाप की समस्या को दूर करता है। अगर आप आलू नहीं खाना चाहते तो शकरकंदी, टमाटर, संतरें का रस, आलू, केला, राजमा, नाशपति, किशमिश, सूखे मेवे और तरबूज भी खा सकते हैं। इनमें भी पोटेशियम की काफी मात्रा पाई जाती है।

4. शहतूत खाएं
रोज 25 ग्राम शहतूत का जूस मिलाकर सुबह पीएं। रोजाना इसका सेवन इस समस्या को दूर करने में मदद करता है।

6.गुलहड़ चाय
चाय पीने से भी हाई बीपी की समस्या से पूर्ण्तः राहत पाई जा सकती हैं। प्रतिदिन गुलहड़ की चाय पीने से ब्लड सर्कुलेशन 7 प्वाइंट नीचे चला जाता है। अगर आपको भी हाई बीपी की समस्या है तो प्रतिदिन गुलहड़ की चाय को पीना शुरू करें।

पीरियड्स में भूलकर भी न खाएं ये चीजें, वरना…