आलू को इस स्पेशल तरीके से पकाएं, नहीं होगा वजन बढ़ने का डर

Way to Cook Potato: आलू को सब्जियों का राजा कहा जाता है क्योंकि तकरीबन हर सब्जी में इसे मिलाकर पकाया जाता है, यहां तक कि नॉन वेज आइटम्स में लोग इसे मिक्स करना नहीं भूलते. इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक, फास्फोरस और पोटेशियम जैसे अहम न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं. जो हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद है. आमतौर पर ये माना जाता है कि जिन लोगों को अपना वजन वजन कम करना है उन्हें आलू का सेवन कम करना पड़ता है. ऐसा इसलिए है क्योंकि इस सब्जी में कैलोरी, स्टार्च और कार्बोहाइड्रेट काफी ज्यादा होता है जो मोटापे के लिए जिम्मेदार माना जाता है.

आलू खाने से वजन बढ़ता है या नहीं?
अब जो लोग आलू का शौक नहीं छोड़ पा रहे हैं, वो आखिर वजन कम करने के लिए क्या कर सकते हैं.  आलू से वजन बढ़ता है या नहीं ये इस बात पर डिपेंड करता है कि आप आलू को आखिर किस तरीके से पकाते हैं. आलू की जो रेसेपीज मशहूर हैं उनमें उबले आलू, फ्रेंच फ्राइज, चिप्स, आलू के पराठे, मसालेदार आलू, आलू चाट. अगर आलू को इन रूपों में खाएंगे तो जाहिर तौर से आपका वजन बढ़ेगा

आलू खाकर भी कम कर लें वजन
अगर आप आलू भी खाना चाहते हैं और उम्मीद करते हैं कि आपका वजन न बढ़े तो इसके लिए आलू को एक खास तरीके से पकाने की जरूरत है, जिससे वजन नहीं बढ़ता और साथ आपको वेट लूज करने में काफी मदद मिलती है.

पहला तरीका
आलू के जरिए आप वजन घटाने की सोच रहे हैं तो इसके लिए आप आलू को उबाल लें और फिर इसे फ्रिज में रखकर कुछ देर ठंडा होने के लिए छोड़ दें. ऐसा करने से इस सब्जी की जीआई (Glycemic Index) कम हो जाती है और फिर मोटापा, डायबिटीज के मरीजों के लिए ये बेहतर ऑप्शन बन जाता है. अब आलू को सफेद सिरके में डाल दें और ब्लांच कर लें. इसके जरिए भी जीआई कम करने में मदद मिलती है. अगर इसमें नींबू के रस की कुछ बूंदे डालें. इससे आलू का डाइजेशन आसान हो जाएगा ग्लूकोज लेवल भी अचानक से नहीं बढ़ेगा.

दूसरा तरीका
आलू को क्यूब्स के शेप में काट लें और गर्म पानी में तकरीबन आधे घंटे तक ब्लांच करें और फिर इसे पकाने में इस्तेमाल करें. अगर आप आलू को माइक्रोवेव ओवन या भाप में पाएंगे तो इस सब्जी में मौजूद शुगर, फैट और सोडियम की मात्रा कम हो जाएगी.

खजूर-काजू के लड्डू डायबिटीज रोगियों के लिए हैं बेस्ट स्नैक्स, ब्लड शुगर होगा कंट्रोल