कोरोना प्रभाव: बदल जाएगा सुरक्षा बलों की ट्रेनिंग का तरीका, ऑनलाइन होंगे कई कोर्स

कोरोना ने लोगों की जिंदगी में बड़े बदलाव ला दिए है। सिर्फ आम जनजीवन ही नहीं बल्कि हमारे केंद्रीय सशस्त्र बलों पर भी इसका प्रभाव हुआ है। कोरोना ने केंद्रीय सशस्त्र बलों की ड्यूटी, उनकी जीवन शैली और ट्रेनिंग में कई अहम बदलावों को जन्म दिया है। विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना का प्रभाव जल्दी जाने वाला नहीं है। इसी वजह से विभिन्न सुरक्षा बल कोरोना संक्रमण की स्तिथि को ध्यान में रखते हुए अपना वर्किंग शेड्यूल तैयार करने में जुट गए है।

नए वर्किंग शेड्यूल के अनुसार सुरक्षा बलों के प्रशिक्षण के तरीकों में भी अहम बदलाव होंगे। साथ ही प्रमोशनल कोर्स और इन-सर्विस कोर्स के कुछ हिस्सों को ऑनलाइन किये जाने पर विचार किया जा रहा है। देश के सबसे बड़े केंद्रीय अर्धसैनिक सुरक्षा बल ‘सीआरपीएफ’ ने आदेश जारी किया है। जिसके तहत कुछ कोर्सों को ऑनलाइन किये जाने के लिए प्लेटफॉर्म तैयार किया जा रहा है। बता दे कोरोना से पहले छुट्टी पर गए कई जवान अभी तक ड्यूटी पर नहीं लौटे है।

ट्रांसपोर्ट व्यवस्था शुरू होने के बाद सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी, सीआईएसएफ, एसएसबी, असम राइफल और एनएसजी ने छुट्टी पर गए हुए अपने सभी जवानों को वापस बुलाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वही दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण से जवानों को बचाने के लिए भी कई तरह की व्यवस्था की जा रही है। देश में सभी बलों को मिलाकर हजार से भी ज्यादा जवान कोरोना संक्रमित हो चुके है। ऐसे में बचाव हेतु कई कोर्स ऑनलाइन किये जा रहे है।

ऐसे कोर्स जिनमें शारीरिक क्षमता, अपग्रेड आर्म्स ट्रेनिंग और वाहन प्रशिक्षण आदि की आवश्यकता नहीं होती है, उन सभी को कराया जाएगा। सभी बलों को ऑनलाइन कोर्स का सिलेबस तैयार करने के आदेश दिए गए है। इसके लिए केंद्र सरकार के आईटी विशेषज्ञों की मदद से ट्रेनिंग प्लेटफॉर्म तैयार होगा।

यह भी पढ़े: हिन्दुस्तानी भाऊ ने एकता कपूर के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, लगाया जवानों के अपमान का आरोप
यह भी पढ़े: मोहिना कुमारी समेत परिवार के पांच लोग निकले कोरोना संक्रमित, सभी लोग अस्पताल में भर्ती