कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर का दावा- ‘हैक हुआ हमारा डाटा’

कोरोना वैक्सीन बना रही कंपनी फाइजर ने डाटा हैक होने की बात कही हैं। कंपनी का कहना है कि उसने टीके के बारे में यूरोप के शीर्ष दवा नियामक को कुछ डाक्यूमेंट्स भेजे थे, लेकिन वहां साइबर अटैक हो गया। फाइजर के मुताबिक उन्हें यूरोपियन मेडिसिंस एजेंसी द्वारा बताया गया था कि उनके प्रायोगिक वैक्सीन के लिए विनियामक सबमिशन से संबंधित कुछ डाक्यूमेंट्स को ईएमए सर्वर पर डाला गया था, जो गैरकानूनी रूप से एक्सेस किए गए थे।

अमेरिका-आधारित दवा कंपनी, मॉडर्न इंक का वैक्सीन अभी डेवलपिंग फेज में है। उसने कहा है कि उसे डेटा ब्रीच के बारे में यूरोपीय नियामक से कोई सूचना प्राप्त नहीं हुई हैं। कंपनी प्रवक्ता के मुताबिक वे स्तिथि की निगरानी कर रहे हैं और आधुनिक साइबर साइबर सुरक्षा खतरों के लिए अत्यधिक सतर्क है।

फाइजर-बायोनेट और मॉडर्ना दो-डोज़ वैक्सीन दोनों एक नई तकनीक पर निर्भर करते हैं जिसे मैसेंजर आरएनए कहा जाता है। मॉडर्ना अधिकृत कोविड -19 वैक्सीन को आगे लाने की दौड़ में फाइजर से थोड़ा पीछे है। बायोटेक्नोलॉजी कंपनी ने कंडीशनल मार्केटिंग ऑथराइजेशन के लिए ईएमए से संपर्क किया है।

यह भी पढ़े: इन कारणों से पैदा होते हैं बच्चों के पेट में कीड़े
यह भी पढ़े: क्या आप जानते है मीट से भी अधिक प्रोटीन मिलता है इस चीज के सेवन से !