जीरा हार्ट अटैक से बचाता है , जानिए इसके अन्य फायदे !

सौंफ के आकार का दिखाई देने वाला जीरा सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं बढ़ाता वल्कि यह बहुत ज्यादा उपयोगी भी है। यह एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-फ्लैटुलेंट गुणों से बहुत ही पूर्ण माना जाता है। इसके अलावा यह डाइटरी फाइबर और लौह, तांबा, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीज, सेलेनियम, जिंक, विटामिन्स और मैग्नीशियम का बहुत ही अच्छा स्रोत माना जाता है। वजन कम करने के साथ साथ यह बहुत सारी अन्य बीमारियों से भी हमें बचाता है, जैसे कोलेस्ट्रॉल कम करता है, हार्ट अटैक से भी बचाता है, स्मरण शक्ति को भी बढ़ाता है, खून की कमी को बहुत ठीक करता है, पाचन तंत्र ठीक कर गैस और ऐंठन ठीक करता है। ऐसे ही कुछ और भी इसके कई सारे फायदे है –

3 ग्राम जीरा पाउडर को पानी में मिलाएं इसमें कुछ बूंदें शहद की डालें फिर इसे तत्काल पी जाएं। वेजिटेबल यानि सब्जियों के उपयोग से सूप बनाएं, इसमें एक चम्मच जीरा भी डालें। या फिर ब्राउन राइस बनाएं इसमें जीर डालें यह सिर्फ इसका स्वाद ही नहीं बढ़ाएगा बल्कि आपका वजन भी बहुत कम करेगा।

जीरे में विटामिन ‘E’ पाया जाता है, जो त्वचा के लिए बहुत ही लाभदायक होता है। इसके अलावा जीरे में कुछ ऐसे तत्व भी मौजूद होते हैं जो त्वचा को पूरी तरह संक्रमण रहित बनाते हैं। यदि किसी के चहरे पर कोई दाग-धब्बे, पिंपल या किसी प्रकार का कोई इंफेक्शन हो गया हो, तो थोड़ा-सा जीरा पीसकर किसी भी फेस पैक में मिलाकर लगा लें, जल्द से जल्द बहुत आराम मिलेगा|

इसके अलावा जीरा खाने को पचाने में भी बहुत मदद करता है जिससे गैस कम बनती है। ऐंठन और पेट फूलना ख़राब पाचन की गंभीर समस्या हैं। जीरा गैस को बनने से रोकता है जिससे पेट और आंतों में अच्छे से खाना पच जाता है।

दो बड़े चम्मच जीरा एक गिलास पानी मे भिगो कर रात भर के लिए रख दें। सुबह इसे उबाल लें और गर्म-गर्म चाय की तरह पियें। बचा हुआ जीरा भी अच्छी तरह चबा लें। इसके रोजाना सेवन से शरीर के किसी भी कोने से अनावश्यक चर्बी शरीर से पूरी तरह बाहर निकल जाती है।

हार्ट के मरीजों के लिए भी यह बहुत फायदेमंद होता है यह जीरा, जीरा कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। इसके साथ ही फैट को शरीर में बनने से भी रोकता है। इसलिए यह वजन कम करने में मदद करता है साथ ही हार्ट अटैक से भी बचाता है।