CWG 2022 में Neeraj Chopra को लेकर उनके पाकिस्तानी कॉम्पिटीटर ने कह दी ये बड़ी बात

भारतीय एथलेटिक्स के स्टार नीरज चोपड़ा जब जब ट्रैक पर उतरे हैं. उन्होंने निराश नहीं किया है. हाल ही में उन्होंने वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भाग लिया था और भारत को सिल्वर मेडल दिलाया था. उनके साथ अरशद नदीम ने भी पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व किया था. अरशद ने पांचवां स्थान हासिल किया था. इससे पहले भी दोनों एथलीट कई बड़े मंचों पर एक साथ प्रतिस्पर्धा कर चुके हैं. साल 2018 एशियन गेम्स में भी इन दोनों ने भाग लिया था और वहां अरशद ने पाकिस्तान को जैवलिन थ्रो का पहला मेडल दिलाया था.

भले ही दोनों देशों के बीच राजनीतिक माहौल अच्छा नहीं है लेकिन दोनों एथलीट जब भी किसी टूर्नामेंट में भाग लेते हैं, वो एक दूसरे से अपनी तकनीक शेयर करते हैं. पाकिस्तान के जैवलिन थ्रोअर अरशद नदीम का कहना है कि उन्हें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत के ओलंपिक चैम्पियन नीरज चोपड़ा के खिलाफ प्रतिस्पर्धा की कमी महसूस होगी क्योंकि वे ‘एक’ परिवार का हिस्सा हैं. नीरज ने पिछले महीने विश्व चैम्पियनशिप में 88.13 मीटर के थ्रो से ऐतिहासिक रजत पदक जीता था जिसमें अरशद पांचवें स्थान पर रहे थे.

अरशद फाइनल्स के लिए क्वालीफाई करने वाले पहले पाकिस्तानी बने थे. नीरज ने ‘ग्रोइन स्ट्रेन’ के कारण राष्ट्रमंडल खेलों से हटने का फैसला किया जबकि अरशद को ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स के साथ पोडियम पर रहने की उम्मीद है. पीटर्स स्वर्ण पदक के प्रबल दावेदार हैं जिन्होंने हाल में विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था. अरशद ने पीटीआई से कहा, ‘‘नीरज भाई मेरा भाई है. मुझे यहां उनकी कमी खल रही है. अल्लाह उन्हें स्वस्थ रखें और मुझे जल्द उनके साथ प्रतिस्पर्धा करने का मौका मिले.’’

भारत-पाक प्रतिद्वंद्वियों के बीच यह ‘भाईचारा’ 2016 में गुवाहाटी में हुए दक्षिण एशियाई खेलों में हिस्सा लेने के दौरान शुरू हुआ. चार साल पहले जब एशियाई खेलों में नीरज ने स्वर्ण पदक जीता तो अरशद ने कांस्य पदक हासिल किया था. अरशद ने कहा, ‘‘वह अच्छे इंसान है. शुरू में आप थोड़ा ‘रिजर्व’ रहते हो. जब आप एक दूसरे को जानने लगते हो तो आप खुलने लगते हो. ’’उन्होंने कहा, ‘‘हमारे बीच बहुत अच्छी दोस्ती है. मैं उम्मीद करता हूं कि वह भारत के लिए प्रदर्शन करना जारी रखे और मैं अपने देश के लिए अच्छा करता रहूं.